July 14, 2024
Vidya Junction Classes-Best Coaching Institute in Patna City

5 मई को कैंडिडेट को NEET के प्रश्न उत्तर रटवा कर 6 मई को भर्ती हुआ था मास्टरमाइंड अस्पताल में। पूरी कुंडली जानिए इसका

1 min read

नीट पेपर लीक केस के मास्टरमाइंड राजीव मुखिया उर्फ राजीव कुमार सरकारी कर्मचारी है वह नालंदा के नूर सराय उद्यान महाविद्यालय में तकनीकी सहायक के पद पर है उसे नीट पेपर लीक की पूरी प्लानिंग कर रखी थी।
एग्जाम के दिन वह बिना बताए कॉलेज से गायब हुआ उसके बाद अस्पताल में एडमिट हो गया ,कॉलेज की ओर से राजीव को लिखे गए पत्र से इस बात का खुलासा हुआ है।

5 को नीट का परीक्षा आयोजन हुआ था और 6 मई से लेकर 14 में तक कॉलेज से गायब रहा इस संबंध में महाविद्यालय की ओर से राजीव कुमार को एक पत्र लिखा गया था जिसमें कहा गया था कि आप 6 मई से 14 दिनों तक बिना किसी सूचना के अनुपस्थित हैं जो अनुशासनहीनता को दर्शाता है पत्र मिलने के तीन दिनों के अंदर अपना स्पष्टीकरण कॉलेज को देना सुनिश्चित करें आगे यह भी लिखा गया कि क्यों नहीं इसे स्वेच्छा पूर्ण अनुपस्थित मानते हुए आपके खिलाफ अनुशासनिक एवं प्रशासनिक कार्रवाई की जाए।

संजीव ने इस पत्र का जवाब 18 मई को दिया उसने लिखा की 6 मई को अचानक तबीयत खराब हो जाने कारण मुझे अस्पताल में भर्ती होना पड़ा था 5 जून तक छुट्टी दी जाए यानि कुल 31 दिन की छुट्टी उसने मांगी थी इसके बाद कॉलेज से दूसरा लेटर जारी किया।

उद्यान महाविद्यालय कार्यालय अधीक्षक प्रणय कुमार पंकज ने बताया कि राजीव कुमार फिलहाल ड्यूटी पर नहीं आ रहे हैं वह पिछले 7 साल से इस कॉलेज में पोस्टेड थे

जब हमें न्यूज़ के माध्यम से राजीव कुमार के बारे में पता चला तो 20 जून को फिर लेटर देकर उसे बुलाया गया मगर कोई जवाब नहीं आया।जांच एजेंसी को शक है कि पेपर लीक में राजीव मुखिया का अहम रोल है

शनिवार को झारखंड के देवघर से छह लोग गिरफ्तार हुई थी इसमें चिंटू भी शामिल है चिंटू इस लीक कांड के मुख्य सरगन राजीव मुखिया का रिश्तेदार है नीट के प्रश्न पत्र और उत्तर की पीडीएफ फाइल 5 में को सुबह चिंटू के व्हाट्सएप पर आया था learn and play स्कूल में रखे गए वाई-फाई प्रिंटर से उसका प्रिंट किया गया और अभ्यर्थियों को हटाया गया था

राजीव मुखिया का कुंडली जानिए
51 वर्षीय राजीव मुखिया बिहार के नालंदा जिले के नगरनौसा गांव का रहने वाला है। उसे लोग लूटन मुखिया के नाम से भी बुलाते हैं पहली बार उसका नाम साल 2010 में ब्लूटूथ डिवाइस का इस्तेमाल करके छात्रों को नकल करने में आया था।राजीव मुखिया का नाम साल 2016 में बिहार सिपाही भर्ती परीक्षा लिख मामले में भी आया था।इसके बाद कई पेपर लीक कांडों में उसका नाम जुड़ चुका है

राजीव मुखिया का नाम बिहार शिक्षक भर्ती परीक्षा 3 के पेपर लीक मामले में आ चुका है उसका डॉक्टर बेटा शिवकुमार इसी मामले में अभी जेल में है शिवकुमार ने एमबीबीएस की पढ़ाई PMCH की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed