May 23, 2024

डीएम, एसएसपी एवं नगर आयुक्त ने वरीय पदाधिकारियों के साथ छठ घाटों का किया पैदल निरीक्षण

1 min read

श्रद्धालुओं एवं छठव्रतियों के लिए घाटों पर उपलब्ध रहेगी सभी सुविधाएँ; तेजी से तैयारी चल रही हैः डीएम

विधि-व्यवस्था संधारण सरकार की सर्वाेच्च प्राथमिकता; उत्कृष्ट भीड़-प्रबंधन, सुदृढ़ सुरक्षा-व्यवस्था एवं सुचारू यातायात प्रबंधन के लिए सभी पदाधिकारी सजग एवं तत्पर रहेंः डीएम ने दिया निदेश

पटना, बुधवार, दिनांक 15 नवम्बर, 2023ः जिला पदाधिकारी, पटना डॉ. चन्द्रशेखर सिंह; वरीय पुलिस अधीक्षक, पटना श्री राजीव मिश्रा एवं नगर आयुक्त, पटना नगर निगम श्री अनिमेष कुमार पराशर द्वारा आज वरीय पदाधिकारियों के साथ दीघा पाटीपुल से महेंद्रू घाट तक सभी छठ घाटों का निरीक्षण किया गया तथा छठ महापर्व, 2023 की तैयारियों एवं व्यवस्थाओं का जायजा लिया गया।

11.00 बजे पूर्वाह्न दीघा पाटीपुल घाट से निरीक्षण प्रारंभ किया गया। अधिकारियों द्वारा लगभग तीन घंटा तक 15 से अधिक घाटों का पैदल भ्रमण किया गया। करीब 11 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए महेंद्रू घाट तक सभी घाटों पर तैयारी की वर्तमान स्थिति का अवलोकन किया गया एवं आवश्यक निदेश दिया गया। निरीक्षण के वक्त सभी घाटों पर प्रतिनियुक्त सेक्टर पदाधिकारियों का दल भी मौजूद था।

डीएम डॉ. सिंह, एसएसपी श्री मिश्रा एवं नगर आयुक्त श्री पराशर ने शिवा घाट, दीघा पाटीपुल घाट, मीनार घाट, दीघा पोस्टऑफिस घाट, जेपी सेतु पश्चिमी घाट, जेपी सेतु पूर्वी घाट, गेट नं. 93 घाट, गेट नं. 88 घाट, गेट नं. 83 घाट, बालूपर घाट, कुर्जी घाट, एलसीटी घाट, राज़ापुर पुल घाट, पहलवान घाट, बाँस घाट, कलेक्ट्रेट घाट तथा महेंद्रू घाट तक छोटे-बड़े सभी घाटों का एक-एक कर निरीक्षण किया।

ज़िलाधिकारी, वरीय पुलिस अधीक्षक एवं नगर आयुक्त द्वारा आज मुख्य रूप से घाटों तक आने का एप्रोच रोड, पार्किंग, अंडरपास एवम् बैरिकेडिंग देखा गया। इसके साथ ही यात्री शेड का निर्माण, प्रकाश, शौचालय एवं पेयजल की व्यवस्था, कंट्रोल रूम इत्यादि के निर्माण का भी जायज़ा लिया गया। गंगा का जल-स्तर, साफ-सफाई, सुरक्षा-व्यवस्था, भीड़-प्रबंधन, यातायात प्रबंधन सहित सभी बिन्दुओं पर तैयारियों एवं प्रबंध का जायजा लिया गया तथा आवश्यक निदेश दिया गया।

ज़िलाधिकारी, वरीय पुलिस अधीक्षक एवं नगर आयुक्त द्वारा ख़तरनाक घाटों का भी निरीक्षण किया गया। जल संसाधन विभाग के अधीक्षण अभियंता द्वारा ज़िलाधिकारी के संज्ञान में तथ्यों को लाया गया। इसके आधार पर मीनार घाट, एलसीटी घाट एवं राजापुर पुल घाट अभी भी ख़तरनाक घाटों की श्रेणी में ही है। मीनार घाट पर वर्टिकल डेप्थ(उर्ध्व गहराई) बहुत अधिक है। एलसीटी घाट एवं राजापुर पुल घाट पर स्लोप खड़ा है, कटाव ज्यादा है एवं मिट्टी गिर रही है। पहलवान घाट अब ख़तरनाक घाटों की श्रेणी में नहीं है। अनुमंडल पदाधिकारियों एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियों के प्रतिवेदन के आधार पर ख़तरनाक घाटों की अंतिम सूची शीघ्र जारी की जाएगी।

डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि आज से निरीक्षण का दूसरा राउण्ड चल रहा है। पटना ज़िला में लगभग 450 घाटों पर छठ हो रहा है। गंगा नदी के नासरीगंज से दीदारगंज तक अनेक अच्छे घाट निकले हैं जिसमें लगभग 100 घाटों पर प्रशासन द्वारा तीव्र गति से बेहतरीन तैयारी की जा रही है। छठव्रतियों एवं श्रद्धालुओं के लिए हर तरह की प्रशासनिक सुविधा रहेगी। सभी सेक्टर पदाधिकारी एवं सेक्टर पुलिस पदाधिकारी घाटों पर मुस्तैद हैं। 24×7 तैयारी की जा रही है। जैसे-जैसे गंगा का जल-स्तर घट रहा है वैसे-वैसे सुरक्षात्मक तथा सुविधा के दृष्टिकोण से सारी व्यवस्था की जा रही है। मानकों के अनुरूप बैरिकेडिंग है। खतरनाक घाटों को लाल कपड़ा से घेरा जा रहा है। अनुपयुक्त एवं खतरनाक घाटों पर भी दण्डाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति रहेगी ताकि लोग उधर न जाएं।

निरीक्षण में पाया गया कि कलेक्ट्रेट घाट पर दलदल की कोई समस्या नहीं है। ज़िलाधिकारी द्वारा गेट नं. 93 घाट पर सेक्टर्स में बांटकर यातायात प्रबंधन तथा पार्किंग सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। पार्किंग स्थल पर बैरिकेडिंग/ड्रॉप गेट की व्यवस्था का निर्देश दिया गया।

जिलाधिकारी ने कहा कि 17 नवम्बर को नहाय-खाय से छठ महापर्व का अनुष्ठान हो रहा है। इससे पूर्व सभी तैयारी सम्पन्न कर ली जाएगी। सेक्टर पदाधिकारियों के 21 दल द्वारा 108 घाटों पर लगातार कैम्प कर सभी व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। पुरूष एवं महिला के लिए अलग-अलग शौचालय, स्वच्छ पेयजल, चेंजिंग रूम, व्रतियों के ठहरने हेतु शेड, घाटों के यथासंभव समीप वाहन पार्किंग की सुविधा रहेगी। पार्किंग स्थल पर बैरिकेडिंग/ड्रॉप गेट की व्यवस्था रहेगी।

डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि गंगा नदी में पानी घट रहा है। इस वर्ष छठ पूजा के दिन जल-स्तर विगत वर्ष की तुलना में लगभग तीन मीटर कम रहने की संभावना है। गंगा के जल-स्तर में कमी एवं घाटों की भौतिक स्थिति को देखते हुए छठव्रतियों एवं श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए प्रशासन द्वारा सभी तैयारी की जा रही है। सभी घाटों पर बड़े-बड़े अक्षरों में घाटों का नाम एवं वाच टावरों तथा अन्य सुरक्षात्मक संरचनाओं का नम्बरिंग किया जा रहा है। एनडीआरएफ एवं एसडीआरएफ टीम की तैनाती के साथ सम्पूर्ण आपदा प्रबंधन तंत्र 24×7 क्रियाशील रहेगा।

डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि छठव्रतियों एवं श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए डेडिकेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट प्लान बनाया गया है। एप्रोच पथ सुगम एवं अवरोधमुक्त रहेगा। सभी घाटों पर प्रकाश की व्यवस्था अच्छी रहेगी। यात्री शेड की भी काफी अच्छी व्यवस्था रहेगी। मार्गों, घाटों एवं रिवरफ्रंट पर सीसीटीवी कैमरा से निगरानी की जाएगी। बड़े घाटों पर ड्रोन से गतिविधियों पर नजर रखा जाएगा। सभी घाटों पर वाच टावर एवं नियत्रंण कक्ष की स्थापना की जा रही है। मजिस्ट्रेट एवं फोर्स का डेपुटेशन रहेगा। एसडीआरएफ एवं एनडीआरएफ के साथ-साथ रिवर पेट्रोलिंग भी क्रियाशील रहेगा। मेडिकल टीम भी तैनात रहेगा।

ज़िलाधिकारी ने कहा कि छठ पूजा के अवसर पर (अशोक राजपथ को जेपी गंगा पथ से कनेक्ट करने वाले जेपी गंगा पथ के नीचे अवस्थित) अंडरपास से घाटों तक आने-जाने का मार्ग सुचारू एवं सुगम है। छठ व्रतियों एवं श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए पार्किंग स्थल यथासंभव घाटों के नजदीक निर्धारित किया गया है। जेपी गंगापथ पर वाहनों का आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। यातायात प्रबंधन एवं भीड़ नियंत्रण के लिए जिला प्रशासन द्वारा काफी अच्छी व्यवस्था की गई है। डेडिकेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट एवं पार्किंग की सुविधा रहेगी।

डीएम डॉ सिंह ने कहा कि घाटों के पास एवं सम्पर्क पथ में समुचित संख्या में वाच टावर रहेगा। घाटों पर नियंत्रण कक्ष कार्यरत रहेगा। ध्वनि-विस्तारक यंत्र एवं सीसीटीवी कैमरा का अधिष्ठापन रहेगा। उन्होंने कहा कि विद्युत विभाग द्वारा घाटों के आस-पास एवं सम्पर्क पथ में अवस्थित विद्युत तारों को व्यवस्थित रखा जाएगा। सभी छठ घाटों पर विद्युत कर्मियों एवं तकनीशियनों की टीम तैनात रहेगी।

डीएम डॉ सिंह ने नगर निगम, प्रशासन, पुलिस, यातायात, आपदा प्रबंधन, विद्युत, भवन निर्माण, पीएचइडी सहित सभी संबद्ध पदाधिकारियों को आपस में समन्वय सुनिश्चित करते हुए सभी कार्य गुणवत्तापूर्ण ढंग से एवं ससमय संपन्न करने का निदेश दिया।

ज़िलाधिकारी ने कहा कि छठ महापर्व, 2023 के अवसर पर विधि-व्यवस्था संधारण प्रशासन की सर्वाेच्च प्राथमिकता है। उत्कृष्ट भीड़-प्रबंधन, सुदृढ़ सुरक्षा-व्यवस्था एवं सुचारू यातायात प्रबंधन के लिए सभी पदाधिकारी मुस्तैद रहें।

डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि प्रशासन सजग, तत्पर एवं प्रतिबद्ध है। छठ महापर्व, 2023 के सफल आयोजन हेतु फूलप्रूफ (त्रुटिहीन) व्यवस्था रहेगी।

इस अवसर पर उप विकास आयुक्त, पटना श्री तनय सुल्तानिया, नगर पुलिस अधीक्षक, (मध्य) श्री वैभव शर्मा, अनुमंडल पदाधिकारी पटना सदर, अपर नगर आयुक्त, अधीक्षण अभियंता, जल संसाधन विभाग एवं अन्य भी उपस्थित थे।

डीपीआरओ, पटना

अकबर ईमाम एडिटर ईन चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed