July 16, 2024
Vidya Junction Classes-Best Coaching Institute in Patna City

बॉलीवुड के प्रसिद्ध पार्श्व गायिका ज्योतिका तांगड़ी पटना के अक्षत सेवा सदन मे गंभीर रूप से घायल संगीत की शिक्षिका पल्लवी मिश्रा से मिल कर मिसाल कायम किया

1 min read

आज बॉलीवुड की प्रसिद्ध पार्श्व गायिका ज्योतिका तांगड़ी, जो की अपने गानों पल्लो लटके, फिर भी तुमको चाहूंगी, तेरी मिट्टी में मिल जाना, इत्यादि गानों से पूरी दुनिया में अपनी पहचान बनाई!! वही गायिका अक्षत सेवा सदन में भर्ती पल्लवी मिश्रा से मिलने गई। पल्लवी मिश्रा २३ अप्रेल को सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हो गई। शरीर में 13 से ज्यादा हड्डियां टूट गई और दाहिना हाथ बुरी तरह छतिग्रस्थ हो गया। जान बचाने के लिए करीब 8 बोतले खून चढ़ाई गई, फिर डॉक्टर अमूल्य, डॉक्टर संतोष, डॉक्टर निर्मल ने नौ घंटे से ज्यादा समय के अथक प्रयास कर हाथ को बचाने की कोशिश की।

अभी भी जान का खतरा है। पल्लवी मिश्रा पटना के प्रतिष्ठित विद्यालय में म्यूजिक की शिक्षिका है। वह अस्पताल में जिंदगी की जंग लड़ रही है। विशेषज्ञों की निगरानी में है। जब ज्योतिका को आज सुबह पता चला की संगीत की एक शिक्षिका इतनी गंभीर हालत में है तो वह पता लगा कर , टीवी की दुनिया के प्रसिद्ध कलाकार कुणाल और सनराइज एंटरटेनमेंट के संस्थापक श्री विजय आनंद के साथ यारपुर स्तिथ अक्षत सेवा सदन पहुंची और अस्पताल के निदेशक डॉक्टर अमूल्य कुमार सिंह से पल्लवी का हाल चाल पूछा और उस से मिलने गई।

पल्लवी की हालत देख कर ज्योतिका की आंखे बढ़ आई। पल्लवी का हाथ पकड़ कर , उसने दाधस बढ़ाया । हौसला दिया। पल्लवी के चेहरे की मुस्कान देखने लायक थी। कुछ देर के लिए वह अपना दुख भूल गई। अपने गाने का उसने एक अंतर भी सुनाया। जाते समय उसने 10000 रुपए और फल भी अपने तरफ से दिया और आगे भी सहायता के लिए आश्वाशन दिया। किसी कलाकार, किसी शिक्षिका के लिए ये बहुत बड़ा सहायता है। अगर समाज के कुछ व्यक्ति भी इस तरह का सोच रखे, तो बहुत आंसुओ को रोका जा सकता है, बहुत तकलीफ को कम किया जा सकता है। पल्लवी के परिवार वालों ने और अक्षत सेवा सदन के कर्मचारियों ने ज्योतिका के भावनाओं की बेहद सराहना किया!!

अक्षत सेवा सदन में पल्लवी से मिलने के बाद ज्योतिका इतना भावुक हो गई की उसके पास ज्यादा समय दे दिया और एयरपोर्ट पहुंचने में भी उसे देरी हो गई और उसका go air का फ्लाइट भी छूट गया। बाद में, ये कहानी सुनने के बाद go air के कर्मचारियों ने मदद की और उसके दूसरे विमान से दिल्ली होते हुए मुंबई भेजा। ज्योतिका ने इस बात के लिए भी बिहार वासियों कीदिल से सरहना किया!!

अकबर ईमाम एडिटर इन चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed