May 27, 2024

आयुक्त,डीएम, एसएसपी, नगर आयुक्त एवं अन्य वरीय पदाधिकारियों के साथ छठ घाटों का किया पैदल निरीक्षण

1 min read

आयुक्त कार्यालय, पटना प्रमण्डल, पटना

श्रद्धालुओं एवं छठव्रतियों के लिए घाटों पर उपलब्ध रहेगी सभी सुविधाएँ; तेजी से तैयारी चल रही हैः आयुक्त

विधि-व्यवस्था संधारण सरकार की सर्वाेच्च प्राथमिकता; उत्कृष्ट भीड़-प्रबंधन, सुदृढ़ सुरक्षा-व्यवस्था एवं सुचारू यातायात प्रबंधन के लिए सभी पदाधिकारी सजग एवं तत्पर रहेंः आयुक्त ने दिया निदेश

अंतर्विभागीय समन्वय की आवश्यकता पर आयुक्त ने दिया बल

पटना, मंगलवार, दिनांक 31.10.2023ः आयुक्त, पटना प्रमंडल, पटना श्री कुमार रवि द्वारा आज जिलाधिकारी, पटना डॉ. चन्द्रशेखर सिंह, वरीय पुलिस अधीक्षक, पटना श्री राजीव मिश्रा, नगर आयुक्त, पटना नगर निगम श्री अनिमेष कुमार पराशर एवं अन्य वरीय पदाधिकारियों के साथ छठ महापर्व, 2023 की तैयारियों एवं व्यवस्था का स्थलीय निरीक्षण किया गया। प्रातः 07.00 बजे दीघा पाटीपुल घाट से निरीक्षण प्रारंभ किया गया। अधिकारियों द्वारा लगभग दो घंटा तक 15 से अधिक घाटों का पैदल भ्रमण किया गया। करीब 11 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए कलेक्टोरेट घाट तक सभी घाटों की वर्तमान भौतिक स्थिति का अवलोकन किया गया एवं तैयारियों का जायजा लिया गया। निरीक्षण के वक्त सभी घाटों पर प्रतिनियुक्त सेक्टर पदाधिकारियों का दल भी मौजूद था।

आयुक्त श्री रवि ने शिवा घाट, दीघा पाटीपुल घाट, मीनार घाट, बिन्दटोली घाट, जेपी सेतु पश्चिमी घाट, जेपी सेतु पूर्वी घाट, गेट नं. 93 घाट, गेट नं. 88 घाट, गेट नं. 83 घाट, कलेक्ट्रेट घाट तक सभी छोटे-बड़े सभी घाटों का एक-एक कर निरीक्षण किया।

डीएम डॉ. सिंह, एसएसपी श्री मिश्रा एवं नगर आयुक्त श्री पराशर ने आयुक्त श्री रवि के संज्ञान में जिला प्रशासन एवं नगर निगम द्वारा की जा रही तैयारियों को लाया। अधिकारियों ने कहा कि सभी सेक्टर पदाधिकारी एवं सेक्टर पुलिस पदाधिकारी घाटों पर मुस्तैद हैं। 24×7 तैयारी की जा रही है। इसे ससमय कर ली जाएगी।

आयुक्त श्री रवि ने नगर निगम, जिला प्रशासन, पुलिस, यातायात, आपदा प्रबंधन, विद्युत, भवन निर्माण, पीएचइडी सहित सभी संबद्ध पदाधिकारियों को आपस में समन्वय सुनिश्चित करते हुए सभी कार्य गुणवत्तापूर्ण ढंग से एवं ससमय संपन्न करने का निदेश दिया।

जल संसाधन विभाग के अधीक्षण अभियंता द्वारा आयुक्त श्री रवि के संज्ञान में लाया गया कि विगत वर्ष की तुलना में इस वर्ष गंगा नदी में पानी का स्तर कम है। गंगा नदी का जलस्तर आज सुबह 06ः00 बजे दीघा घाट पर 44.86 मीटर एवं गाँधी घाट पर 44.17 मीटर था। विगत वर्ष दीघा घाट में छठ पर्व के दिन 30 अक्टूबर, 2022 को जल-स्तर 47.51 मीटर तथा 31 अक्टूबर, 2022 को 47.37 मीटर था। सभी तथ्यों को ध्यान में रखते हुए इस वर्ष छठ के समय तक जल-स्तर वर्तमान स्तर से लगभग एक मीटर अर्थात सवा तीन फीट कम होने की संभावना है। आयुक्त श्री रवि ने कहा कि इस को ध्यान में रखते हुए प्रशासन द्वारा सारी तैयारी की जा रही है। अधिकारियों को निदेश दिया गया है कि जलस्तर पर लगातार नज़र रखें। सभी घाट पर सुरक्षात्मक बैरिकेडिंग एवं साइनेज लगाया जाए। बैरिकेडिंग मानकों के अनुरूप रखना सुनिश्चित करें। खतरनाक घाटों को चिन्हित करते हुए लाल रंग के कपड़ा से घेर दें ताकि श्रद्धालु उधर न जाएं। सभी घाटों पर बड़े-बड़े अक्षरों में घाटों का नाम एवं वाच टावरों तथा अन्य सुरक्षात्मक संरचनाओं का नम्बरिंग करने का निदेश दिया गया। एनडीआरएफ एवं एसडीआरएफ टीम की तैनाती करने के साथ सम्पूर्ण आपदा प्रबंधन तंत्र को 24×7 क्रियाशील रखने का निदेश दिया गया।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि छठ पूजा के प्रसंग में जेपी गंगापथ एक नई संरचना है। विगत वर्ष से छठ पूजा के लिए इसका प्रयोग किया जा रहा है। पिछले साल यातायात प्रबंधन एवं भीड़ नियंत्रण के लिए जिला प्रशासन द्वारा काफी अच्छी व्यवस्था की गई थी। इस वर्ष भी सारी तैयारी की जा रही है। अशोक राजपथ से जेपी गंगा पथ के नीचे अवस्थित अंडरपास से घाटों तक आने-जाने का मार्ग सुचारू एवं सुगम रहेगा। डेडिकेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट एवं पार्किंग की सुविधा रहेगी। आयुक्त ने कहा कि छठ व्रतियों एवं श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए पार्किंग स्थल यथासंभव घाटों के नजदीक रहेगा।

आयुक्त श्री रवि द्वारा निरीक्षण में पाया गया कि गेट नं. 88 घाट एवं गेट नं. 83 घाट जाने के लिए जेपी गंगा पथ अंडरपास में नमामि गंगे परियोजना अंतर्गत ह्यूम पाईप रखा हुआ है। आयुक्त द्वारा स्थल पर ही बुडको के प्रबंध निदेश से मोबाईल पर बात कर इसे हटाने के लिए कहा गया ताकि अंडरपास में टू-लेन आवागमन निर्बाध चालू रहे।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि गंगा के जल-स्तर में कमी एवं घाटों की भौतिक स्थिति को देखते हुए छठव्रतियों एवं श्रद्धालुओं की सुविधा के मद्देनजर प्रशासन द्वारा तेजी से कार्य कराया जा रहा है। 108 घाटों पर सेक्टर पदाधिकारियों का 21 दल लगातार कैम्प किए हुए है। घाटों पर जाने के लिए एप्रोच रोड अच्छी स्थिति में रहेगी। उत्कृष्ट साफ-सफाई एवं प्रकाश-व्यवस्था सुनिश्चित रहेगी।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि छठव्रतियों एवं श्रद्धालुओं के लिए सभी सुविधाएँ उपलब्ध रहेंगी। पुरूष एवं महिला के लिए अलग-अलग शौचालय, स्वच्छ पेयजल, चेंजिंग रूम, व्रतियों के ठहरने हेतु शेड, घाटों के बाहर वाहन पार्किंग की सुविधा रहेगी। पार्किंग स्थल पर बैरिकेडिंग/ड्रॉप गेट की व्यवस्था रहेगी।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि घाटों के पास एवं सम्पर्क पथ में समुचित संख्या में वाच टावर रहेगा। घाटों पर नियंत्रण कक्ष कार्यरत रहेगा। ध्वनि-विस्तारक यंत्र एवं सीसीटीवी कैमरा का अधिष्ठापन रहेगा। उन्होंने कहा कि विद्युत विभाग द्वारा घाटों के आस-पास एवं सम्पर्क पथ में अवस्थित विद्युत तारों को व्यवस्थित रखा जाएगा। सभी छठ घाटों पर विद्युत कर्मियों एवं तकनीशियनों की टीम तैनात रहेगी।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि छठ महापर्व, 2023 के अवसर पर विधि-व्यवस्था संधारण सरकार की सर्वाेच्च प्राथमिकता है। उत्कृष्ट भीड़-प्रबंधन, सुदृढ़ सुरक्षा-व्यवस्था एवं सुचारू यातायात प्रबंधन के लिए सभी पदाधिकारी सजग एवं तत्पर रहें।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि छठ महापर्व, 2023 के सफल आयोजन हेतु प्रशासन सजग, तत्पर एवं प्रतिबद्ध है।

इस अवसर पर उप विकास आयुक्त, पटना श्री तनय सुल्तानिया, नगर पुलिस अधीक्षक, (मध्य) श्री वैभव शर्मा, प्रमंडलीय आयुक्त के सचिव श्री प्रीतेश्वर प्रसाद, अपर नगर आयुक्त, अनुमंडल पदाधिकारी पटना सदर, अपर समाहर्ता, आपदा प्रबंधन, अधीक्षण अभियंता, जल संसाधन विभाग एवं अन्य भी उपस्थित थे।

उप निदेशक,
आईपीआरडी, पटना प्रमंडल

अकबर ईमाम एडिटर ईन चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed