May 27, 2024

राष्ट्रीय फैशन प्रोद्योगिकी संस्थान (निफ्ट) पटना
निफ्ट पटना में 09 फरवरी 2023 को साउथ एशिया वुमेन फिल्म फेस्टिवल का भव्य समापन हुआ |



पटना में फिल्म साऊथएशिया, बिहार राज्य फिल्म विकास एवं वित्त निगम लि. व कला, संस्कृति एवं युवा विभाग, बिहार सरकार के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित साउथ एशिया वुमेन फिल्म फेस्टिवल का आज विधिवत समापन हो गया | ये साउथ एशिया महिला फिल्म फेस्टिवल का पहला समारोह था जो 02 फरवरी से शुरू हुआ और 07 दिनों तक चला | जिसमें नेपाल, श्रीलंका, बांगलादेश एवं भारत से कुल 06 फिल्में ‘सीता के बदलते रूप’ ‘फेस कवर’ ‘फ्लेम्स ऑफ अ कंटीन्यूअस फिल्ड ऑफ टाईम’ ‘डिकोडिंग जेंडर’ ‘द सिटी दैट स्पोक टू मी’ ‘बिफोर यू वर माई मदर’ दिखाई गईं |

बता दें कि इस फिल्म फेस्टिवल का उद्घाटन मगध महिला कॉलेज में माननीय मंत्री, कला, संस्कृति एवं युवा विभाग श्री जितेन्द्र कुमार राय द्वारा किया गया था | इस फिल्म फेस्टिवल में श्रंखलाबद्ध तरीके से मगध महिला कॉलेज, चाणक्य राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय, चन्द्रगुप्त प्रबंध संस्थान तथा राष्ट्रीय फैशन प्रोद्योगिकी संस्थान (निफ्ट) पटना में हिंदी सहित, अग्रेजी व बांग्ला भाषा तथा साईन लैंग्वेज की फिल्मों का प्रदर्शन किया गया |

समापन समारोह में आज दिनांक 09 फ़रवरी को दर्शक दीर्घा में उपस्थित में फैशन डिजाइन, तकनीक और मैनेजमेंट से जुड़े निफ्ट के छात्र – छात्राओं को संबोधित करते हुए फिल्म साउथ एशिया के सहायक निदेशक, आलोक अधिकारी ने अपने संबोधन में कहा कि कला संस्कृति एवं युवा विभाग की यह पहल काफी सराहनीय है और उम्मीद है कि ऐसी पहल निरंतर होती रहेगी|


रेशमा प्रसाद, ट्रांसजेंडर एक्टिविस्ट ने जेंडर की अवधारणा पर छात्र छात्रओ के साथ सारगर्भित चर्चा की और फैशन को जेंडर भेद भाव को खत्म करने का एक सशक्त माध्यम बताया |
दीपक आनंद, अपर सचिव, कला, संस्कृति एवं युवा विभाग ने अपने संबोधन में इस आयोजन को बिभाग के सचिव श्रीमती बंदना प्रेयशी की मौलिक सोच का परिणाम बताया| उन्होंने भगवदगीता के श्लोक के माध्यम से छात्रों को जीवन में सफलता के लिए आवश्यक 5 गुणों की पहचान करायी| साथ ही कवि रघुवीर सहाय एवं हरिवंश राय बच्चन की कवितायों के माध्यम से क्रमश नारी जीवन और असफलता से निपटने के तरीको पर भी विस्तार से चर्चा की|


निफ्ट के निदेशक, कर्नल राहुल शर्मा ने अपने संस्थान में इस प्रकार के आयोजन के लिए कला संस्कृति एवं युवा विभाग का हृदय से आभार व्यक्त किया | उन्होंने कला को सशक्तिकरण का एक महत्वपूर्ण माध्यम माना|
बिरेन्द्र प्रसाद, निदेशक, कला, संस्कृति एवं युवा विभाग ने इस 7 दिवसीय फिल्म महोत्सव के समापन समारोह में धन्यवाद ज्ञापन करते हुई विभाग के माननीय मंत्री,सचिव ,अपर सचिव, बिहार फिल्म विकास निगम के सभी कर्मी, मगध महिला महाविद्यालय, चाणक्य राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय, चन्द्रगुप्त प्रबंध संस्थान तथा राष्ट्रीय फैशन प्रोद्योगिकी संस्थान (निफ्ट) पटना का उनके सहयोग के लिए हृदय से धन्यबाद दिया |


समापन समारोह में भाग लेने वाले सभी मंचासीन गणमान्य को पौधा व प्रतीक चिन्ह भेंट कर उन्हें सम्मानित किया गया | सभी गणमान्य अतिथि, निफ्ट की रश्मि ठाकुर, सहायक प्रोफ़ेसर, अर्चना शेफाली कोंगारी, असिस्टेंट प्रोफ़ेसर, अभिलाषा सिंह, असिस्टेंट प्रोफ़ेसर तथा अभिनेता रवि कांत सिंह ने समापन समारोह को भव्‍यता प्रदान की और गौरव बढ़ाया |


समापन समारोह के उपरान्त फैशन डिजाइन, तकनीक और मैनेजमेंट से जुड़े निफ्ट के छात्र – छात्राओं के समक्ष ‘डिकोडिंग जेंडर’ फिल्म प्रदर्शित की गई | यह फिल्म निर्देशिका रॉयान शायेमा की व्यक्तिगत यात्रा के माध्यम से एक लैंगिक भूमिका के प्रतिनिधित्व की अंतिम निर्णायक तलाश है | जिसमें एक ट्रांसजेंडर महिला दोहरे जेंडर को समझने और गूढ़ वाचन करने के लिए एक परावर्तक यात्रा के माध्यम से पुरुषों से महिलाओं के अधिकारों के लिए लड़ती है | साथ ही पुरुषों और महिलाओं दोनों से ट्रांसजेंडर महिलाओं की पहचान और अधिकारों के लिए सत्यापन की मांग करती है | जिसका उद्देश्य है महिला, पुरुष और ट्रांसजेंडर से अलग नॉन बाईनरी लोग द्वारा सिर्फ खुद को स्वतंत्र रूप से अभिव्यक्त करना


फिल्म को देखने के पश्चात छात्र व छात्राओं में अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि आज के बदलते परिवेश में ट्रांसजेंडर पर आधारीत फल्मों के माध्यम से समाज को जागरूक करना अत्यंत प्रासंगिक है | ट्रांसजेंडर तथा नॉन बाईनरी लोगों को भी अपने विचारों को स्वतंत्र रूप से अभिव्यक्त करने का अधिकार होना चाहिए | उनकी पहचान को सहजता से स्वीकारते हुए सभी क्षेत्रों में उन्हें समान अवसर उपलब्ध कराना चाहिए | फिल्म महोत्सव तथा महिलाओं के मुद्दों पर संकेंद्रित कला दीर्घा में प्रदर्शित चित्रों का अवलोकन के दौरान भी फैशन डिजाइन, तकनीक और मैनेजमेंट से जुड़े निफ्ट के छात्र – छात्राओं ने भारी संख्या में अपनी उपस्थिति दर्ज की |


अंत में निफ्ट प्रबंधन तथा छात्रों द्वारा फिल्म महोत्सव का आयोजन निफ्ट में करने के लिए फिल्म साउथ एशिया तथा कला, संस्कृति व युवा विभाग बिहार सरकार को धन्वाद व्यक्त किया गया |

अकबर ईमाम एडिटर ईन चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed