April 23, 2024

कंप्यूटर कोर्स के बाद हीं रोजगार और स्वरोजगार में मिलेगा मौका, नाबार्ड के डीजीएम सतपाल आजाद ने GIIT डाकबंगला में स्किल योजना का किया शुभारंभ

1 min read

GIIT में कौशल विकास प्रशिक्षण का हुआ शुभारम्भ, नाबार्ड के डीजीएम सतपाल आजाद ने बताया ये स्किल क्यों है जरुरी

वर्तमान समय में कंप्यूटर शिक्षा के बगैर रोजगार में काफी अवरोध मिलती है। इसलिए आम शिक्षा के साथ साथ कंप्यूटर प्रोफेशनल होना बहुत जरुरी है। कंप्यूटर कोर्स अपने आप में बहुत महत्वपूर्ण है जिसमें रोजगार और स्वरोजगार की अपार संभावनाएं होती हैं। उक्त बातें नाबार्ड, बिहार के उप मुख्य प्रबंधक सतपाल आजाद ने पटना के डाकबंगला चौक पर स्थित GIIT संस्थान में नाबार्ड द्वारा प्रायोजित और ग्लोबल इंस्टिट्यूट ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी द्वारा संचालित कंप्यूटर बेसिक कोर्स के प्रशिक्षण के शुभारंभ के अवसर पर उपस्थित छात्रों को संबोधित करते हुए कही।
डीजीएम श्री आजाद ने कहा कि नाबार्ड अपने कार्यक्रम के माध्यम से विभिन्न क्षेत्रों में ग्रामीण युवाओं कौशल विकास प्रशिक्षण देने का कार्य करता है। इस कार्यक्रम से प्रशिक्षण पाने वाले लाभान्वितों को रोजगार व स्वरोजगार में बहुत मदद मिलती है। उन्होंने वहां उपस्थित छात्रों से कहा कि वे सीखें और सवाल पूछें ताकि जब यहाँ से वे प्रशिक्षित होकर जाएँ तो रोजगार और स्वरोजगार में किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो। हमारी पूरी टीम आपके कैरियर को बनाने में सहयोग करेगी।
समारोह को संबोधित करते हुए सहायक महाप्रबंधक अमित कुमार गौतम ने कहा कि पहले वैसे लोगों को साक्षर कहा जाता था जो को क ख ग घ और ए बी सी डी जानते थे, परंतु दौर बदल रहा है और वर्तमान समय में साक्षर वही है जिसको कंप्यूटर की जानकारी हो। उन्होंने नाबार्ड के जनोपयोगी कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए कहा कि बेहतर प्रशिक्षण देना और लेना दोनो हीं आपने भविष्य को संवारने का कार्य करेगा।
समारोह की अध्यक्षता करते हुए GIIT के सीईओ और निदेशक मधुप मणि ने कहा कि नैबस्कील के इस योजना से GIIT के छात्र और छात्राओं में काफी उत्साह का माहौल है। उन्होंने कहा कि पिछले 24 वर्षों से GIIT ने अपने सेंटर्स के माध्यम से लाखों बच्चों को आईटी सेक्टर में प्रशिक्षित करने का काम किया है। उन्होंने GIIT के द्वारा पूर्व में चलाई गई सफल योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया।
समारोह का संचालन विकाश सिंह ने किया। इसके पूर्व GIIT के निदेशक और सीईओ मधुप मणि ने पुष्प गुच्छ और शाल देकर अतिथियों को सम्मानित किया। समारोह में सामाजिक कार्यकर्त्ता विजय यादव ने अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।
अतिथियों का स्वागत करते हुए सामाजिक कार्यकर्त्ता विजय यादव ने इस योजना को युवाओं तक लाने के लिए नाबार्ड और GIIT की टीम को धन्यवाद देते हुए कहा कि इस योजना से ग्रामीण युवाओं को भी अपने कैरियर को सवारने का मौका मिलेगा। वहीं कार्यक्रम में धन्यवाद देते हुए मनोज चौधरी ने नाबार्ड के अधिकारीयों का आभार प्रकट किया।


समारोह में मुख्य रूप से सामाजिक कार्यकर्त्ता विजय यादव, मनोज चौधरी, सहायक प्रोजेक्ट निदेशक ब्रज बिहारी प्रसाद, सत्येन्द्र कुमार, संदीप रंजन, दिव्यांशु आर्यन, पल्लवी सिन्हा, बन्दना शामिल थीं।

अकबर ईमाम एडिटर ईन चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed