April 23, 2024

पटना डीएम की अध्यक्षता में प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग ग्रुप की बैठकः अधिकारियों एवं कार्यकारी एजेंसियों को योजनाओं का तत्परता से क्रियान्वयन करने का दिया गया निदेश

1 min read

समाहरणालय, पटना

सभी परियोजनाओं में काफी प्रगति अच्छी; प्रशासन द्वारा सभी बड़े-बड़े मामलों का समाधान कर दिया गया है; छोटी-छोटी समस्याओं को एसडीओ एवं एसडीपीओ दूर करेंगेः डीएम

पटना, मंगलवार, दिनांक 26.09.2023ः समाहर्ता-सह-जिला पदाधिकारी, पटना डॉ. चन्द्रशेखर सिंह ने कहा है कि जिला में चल रही 30 से अधिक राज्य-संपोषित एवं केन्द्रीय परियोजनाओं के क्रियान्वयन में काफी अच्छी प्रगति है। प्रशासन द्वारा सभी बड़े-बड़े मुद्दों को हल कर लिया गया है। छोटी-मोटी समस्याओं को क्षेत्रीय स्तर पर संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी/अपर पुलिस अधीक्षक विशेष रूचि लेकर दूर करेंगे। वे आज समाहरणालय स्थित सभा कक्ष में परियोजना अनुश्रवण समूह (प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग ग्रुप) की बैठक की अध्यक्षता करते हुए पदाधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि संबद्ध अधिकारीगण एवं कार्यकारी एजेंसी योजनाओं का समयबद्ध ढ़ंग से गुणवत्ता सुनिश्चित करते हुए क्रियान्वयन करें।

इस बैठक में डीएम डॉ. सिंह द्वारा विभिन्न केन्द्रीय योजनाओं यथा एनएचएआई, रेलवे तथा राज्य योजनाओं जैसे पथ निर्माण विभाग, पुल निर्माण विभाग, भवन प्रमंडल, जल संसाधन विभाग की विभिन्न राज्य संपोषित परियोजनाओं में प्रगति की विस्तृत समीक्षा की गई।


(1) रेलवे परियोजनाः- पटना जिला में रेलवे परियोजना अन्तर्गत तीन योजनाएँ चल रही हैंः- नेउरा-दनियावाँ रेल लाईन, रामपुर-डुमरा टाल डबल एडिशनल रेल पुल निर्माण तथा बाढ़ से बख्तियारपुर थर्ड बड़ी रेल लाईन निर्माण। कार्य एजेंसियों द्वारा जिलाधिकारी के संज्ञान में लाया गया कि इन सभी योजनाओं के क्रियान्वयन में कोई बाधा नही हैं। प्रशासन द्वारा सभी समस्या का समाधान पूर्व में ही कर दिया गया है। कार्य पूर्ण प्रगति पर है। डीएम डॉ. सिंह द्वारा इस पर प्रसन्नता व्यक्त की गयी तथा कार्य एजेंसियों को संबंधित अनुमण्डल पदाधिकारियों एवं अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारियों से समन्वय स्थापित कर योजनाओं का तत्परता से क्रियान्वयन करने का निदेश दिया गया।

(क) नेउरा-दनियावॉ बड़ी रेल लाईन निर्माणः- इस परियोजना में कुल 45 मौजा में कुल अर्जित रकबा 492.36 एकड़ है। कुल 3,099 आवेदन प्राप्त हुआ था। कुल प्राप्त आवंटन 144.94 करोड़ रुपया में से 3,093 रैयतों के बीच 123.01 करोड़ रुपया का भुगतान किया गया है। कुल पंचाटों की संख्या 2,104 है जिसमें से 1,920 पंचाटों का पूर्ण भुगतान कर दिया गया है। परियोजना अंतर्गत 422.31 एकड़ रकबा (लगभग 86 प्रतिशत) का भुगतान किया गया है। शत-प्रतिशत अर्जित रकबा पर दखल-कब्जा है। शेष बचे रैयतों के बीच मुआवजा भुगतान तेजी से किया जा रहा है। डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि कार्य में काफी  अच्छी प्रगति है। उन्होंने शेष रैयतों के बीच शीघ्र मुआवजा भुगतान करने का निदेश दिया। 

(ख) रामपुर-डुमरा-टाल राजेन्द्र पुल एवं पहुँच पथ निर्माणः- इस परियोजना में कुल छः ग्राम में कुल 25.48 एकड़ भूमि का अधिग्रहण किया गया है। कुल 298 आवेदन प्राप्त हुआ है। कुल प्राप्त आवंटन 19.69 करोड़ रुपया में से 294 रैयतों के बीच मुआवजा भुगतान किया गया है। प्राधिकार में जमा राशि एवं भुगतान की गई राशि का कुल योग 14.2576 करोड़ रुपया है। कुल पंचाटों की संख्या 319 है जिसमें से 259 पंचाटों का पूर्ण भुगतान कर दिया गया है। शत-प्रतिशत अर्जित रकबा पर दखल-कब्जा है। शेष रैयतों के बीच मुआवजा भुगतान तेजी से किया जा रहा है। कार्य एजेंसी द्वारा बताया गया कि मॉनसून के पश्चात तेजी से काम होगा। डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि कार्य में काफी अच्छी प्रगति है। जिला भू-अर्जन पदाधिकारी को शेष रैयतों के बीच तीव्र गति से मुआवजा भुगतान करने तथा अधियाची विभाग को तेजी से काम करने का निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी द्वारा मौजा शेरपुर, थाना नम्बर 18, रकबा 3.24 एकड़ का तृतीय नोटिस निर्गत कर अखबार में सूचना प्रकाशन कराते हुए मुआवजा भुगतान करने तथा शेष राशि प्राधिकार में जमा करने का निदेश दिया गया। अनुमंडल पदाधिकारी को सभी स्टेकहोल्डर्स से समन्वय स्थापित कर कार्य का नियमित तौर पर अनुश्रवण करने का निदेश दिया गया। 

(ग) बाढ़-बख्तियारपुर थर्ड बड़ी रेल लाईन निर्माणः- इस परियोजना में कुल छः ग्राम में 12.24 एकड़ भूमि का अधिग्रहण किया गया है। कुल 221 आवेदन प्राप्त हुआ है। कुल प्राप्त आवंटन 14.41 करोड़ रुपया में से 216 रैयतों के बीच 11.94 करोड़ रुपया का भुगतान किया गया है। कुल पंचाटों की संख्या 155 है जिसमें से 94 पंचाटों का पूर्ण भुगतान कर दिया गया है। परियोजना अंतर्गत 09.02 एकड़ रकबा (लगभग 74 प्रतिशत) का भुगतान किया गया है। शत-प्रतिशत अर्जित रकबा पर दखल-कब्जा है। हितबद्ध रैयतों द्वारा प्राप्त शेष आवेदन पत्रों का मुआवजा भुगतान तेजी से किया जा रहा है। जिलाधिकारी द्वारा एजेंसी को तत्परता से कार्य करने का निदेश दिया गया। डीएम डॉ. सिंह ने अनुमंडल पदाधिकारी, बाढ़ को परियोजना के कार्य का नियमित अनुश्रवण करने का निदेश दिया।
  1. एनएचएआई परियोजनाः-
    (क) कन्हौली-रामनगर पटना रिंग रोड परियोजनाः कार्य एजेंसी द्वारा बताया गया कि कल्याणपुर बसियावाँ एवं कर्णपुरा स्थित सरकारी विद्यालय के स्थानांतरण के संबंध में शिक्षा विभाग द्वारा अनापत्ति प्रमाण-पत्र दे दिया गया है। नौबतपुर अंचल के अंतर्गत मौजा पैनापुर एवं मौजा चेसी में कुछ मीटर में जो समस्या थी उसका समाधान पूर्व में ही प्रशासन द्वारा कर दिया गया है। अनुमंडल पदाधिकारी, दानापुर द्वारा बताया गया कि एनएचएआई द्वारा बताए गए सभी अवरोधों को निदेशानुसार पूर्व में ही दूर कर लिया गया है। जिलाधिकारी द्वारा जिला शिक्षा पदाधिकारी को विद्यालय के स्थानांतरण के लिए अंचल अधिकारी नौबतपुर से सम्पर्क स्थापित कर शीघ्र कार्रवाई करने का निदेश दिया गया। उन्होंने अंचलाधिकारी तथा जिला शिक्षा पदाधिकारी को कल ही एजेंसी के प्रतिनिधि के साथ स्थल भ्रमण करते हुए जो भी बाधा है उसे दूर करने के लिए कार्रवाई करने का निदेश दिया। अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मसौढ़ी को पिपरा थाना भवन के स्थानान्तरण के संबंध में एक सप्ताह के अंदर स्थल चिन्ह्ति करने का निदेश दिया गया। डीएम डॉ. सिंह ने अनुमंडल पदाधिकारी, दानापुर एवं अनुमंडल पदाधिकारी, मसौढ़ी को परियोजना के कार्यों का नियमित अनुश्रवण करने का निदेश दिया। (ख) शेरपुर-दिघवारा पथ (रिंग रोड) सिक्स लेन पुल निर्माण परियोजनाः डीएम डॉ. सिंह द्वारा अपर समाहर्ता को टीम बनाकर सात दिन के अंदर सीमांकन कार्य पूर्ण कराने का निदेश दिया। उन्होंने जिला भू-अर्जन पदाधिकारी को मुआवजा भुगतान में तेजी लाने का निदेश दिया। कार्यों में प्रगति लाने के लिए आवश्यकतानुसार कैम्प लगाने का निदेश दिया गया। उन्होंने अपर समाहर्ता को भू-हस्तानांतरण के प्रस्ताव में तीव्रता लाने का निदेश दिया। भवन निर्माण विभाग एवं वन विभाग से संरचना का मूल्यांकन प्रतिवेदन प्राप्त है। जिलाधिकारी द्वारा एक सप्ताह के अंदर थ्रीजी प्राक्कलन एनएचएआई को भेजने का निदेश दिया गया। साथ ही बोरिंग-चापाकल आदि का मूल्यांकन विभाग से प्राप्त होते ही थ्रीजी की कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया। (ग) पटना-गया-डोभी (एनएच-83) परियोजनाः जिलाधिकारी ने कहा कि इस परियोजना में भू-अर्जन का कोई इश्यू नहीं है। स्थल पर निर्माण कार्य में किसी प्रकार का कोई अवरोध नहीं है। जिला भू-अर्जन पदाधिकारी को मुआवजा भुगतान में तेजी लाने का निदेश दिया गया। (घ) बख्तियारपुर-मोकामा फोरलेन फेज-1 (एनएच-31) परियोजनाः समीक्षा के क्रम में पाया गया कि परियोजना अंतर्गत कुल 39 मौजों में 2,124 पंचाट है। कुल 88.32 प्रतिशत रकबा का भुगतान कर दिया गया है। डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि निर्माण स्थल पर कार्य में किसी प्रकार का अवरोध नहीं है। शेष बचे हुए रैयतों के बीच त्वरित गति से मुआवजा भुगतान करने का निदेश दिया गया। अनुमंडल पदाधिकारी, बाढ़ को परियोजना में प्रगति का अनुश्रवण करने का निदेश दिया गया।
  2. राज्य से संबंधित परियोजनाएँः- (क) उसरी-छितनावॉ बाईपास रोडः- जिलाधिकारी द्वारा अनुमंडल पदाधिकारी, दानापुर तथा अंचलाधिकारी, दानापुर एवं मनेर को तेजी से कार्य करने का निदेश दिया गया। अनुमंडल पदाधिकारी, दानापुर कल चार बजे अंचल अधिकारियों एवं कार्यपालक अभियंता, पश्चिमी पथ प्रमंडल, पटना के साथ इसकी समीक्षा करेंगे। जिलाधिकारी द्वारा एक सप्ताह के अंदर आवेदन का सृजन कराने एवं खेसरावार रैयतों की भूमि से संबंधित एलपीसी (भू-स्वामित्व प्रमाण-पत्र) निर्गत कर कार्यकारी एजेंसी को उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया। उन्होंने अनुमंडल पदाधिकारी, दानापुर को कार्यपालक अभियंता, पश्चिमी पथ प्रमंडल, पटना के साथ इस मामले में प्रगति का नियमित अनुश्रवण करने का निदेश दिया। (ख) मीठापुर से महुली एलिवेटेड कॉरिडोर निर्माण परियोजनाः- मीठापुर-महुली रोड परसा बाजार से सम्पतचक तक जाती है। कार्यकारी एजेंसी द्वारा बताया गया कि नापी कराना आवश्यक है। जिलाधिकारी द्वारा अपर समाहर्ता को पटना सदर, फुलवारीशरीफ तथा पुनपुन अंचल के लिए अंचलवार तीन टीम का गठन कर तिथि निर्धारित करते हुए जमीन की नापी एवं अन्य आवश्यक कार्य कराने का निदेश दिया गया। नापी के समय रेलवे के भी प्रतिनिधि रहेंगे। जिला भू-अर्जन पदाधिकारी को मुआवजा भुगतान में तेजी लाने का निदेश दिया गया। (ग) गंगा पथ निर्माण (दीघा से दीदारगंज)ः- बीएसआरडीसीएल के पदाधिकारी द्वारा दीदारगंज के पास अतिक्रमण हटाने, कृष्णा घाट एवं भद्र घाट के नजदीक आ रहे छोटे-छोटे इश्यू को हल करने का अनुरोध किया गया। जिलाधिकारी द्वारा अनुमंडल पदाधिकारी, पटना सदर एवं पटना सिटी को इन समस्याओं को शीघ्र दूर कर परियोजना के कार्यों का नियमित अनुश्रवण करने का निदेश दिया गया। (घ) नासोपुर-पोआवॉ घाट के बीच पुनपुन नदी पर पुल एवं पहुँच पथ निर्माणः- अधियाची विभाग को दिनांक 01 जून, 2023 को दखल कब्जा दे दिया गया है। जिलाधिकारी द्वारा भूमि सुधार उप समाहर्ता, मसौढ़ी को रैयतीकरण प्रतिवेदन शीघ्र उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया। (च) शिवाला में आरओबी का निर्माण:- जिलाधिकारी द्वारा अनुमण्डल पदाधिकारी, दानापुर तथा जिला भू-अर्जन पदाधिकारी को इस कार्य में विशेष रूचि लेकर तेजी लाने का निदेश दिया गया। आवेदन सृजन करने एवं मुआवजा भुगतान में प्रगति लाने का निदेश दिया गया। (छ) बख्तियारपुर इंजीनियरिंग कॉलेज के नजदीक आरओबी एवं सम्पर्क पथ का निर्माणः- इसमें पंचाट की घोषणा करते हुए हितबद्ध रयतों को नोटिस तामिला हेतु अंचल अधिकारी, बख्तियारपुर को भेजा गया है। जिलाधिकारी द्वारा तीव्र गति से कार्य करने का निदेश दिया गया।

डीएम डॉ. सिंह ने विभिन्न परियोजनाओं में जिला भू-अर्जन पदाधिकारी को आवश्यकतानुसार मौजों में रोस्टर के अनुसार शिविरों का आयोजन लगाने का निदेश दिया।

डीएम डॉ सिंह ने कहा कि सरकार के विकासात्मक एवं लोक-कल्याणकारी योजनाओं का सफल क्रियान्वयन प्रशासन की सर्वाेच्च प्राथमिकता है। सभी पदाधिकारी इसके लिए सजग, तत्पर एवं प्रतिबद्ध रहें।

आज की इस बैठक में उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, जिला भू-अर्जन पदाधिकारी, अपर जिला भू-अर्जन पदाधिकारी, बीएसआरडीसीएल, एनटीपीसी, एनएचएआई, रेलवे एवं अन्य के प्रतिनिधि सहित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी अनुमण्डल पदाधिकारी, भूमि सुधार उप समाहर्ता तथा अंचलाधिकारी उपस्थित थे।

डीपीआरओ, पटना

जन-सम्पर्क शाखा

प्रे.वि.सं. 682

अकबर ईमाम एडिटर ईन चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed