May 24, 2024

जिलाधिकारी, पटना डॉ. चन्द्रशेखर सिंह द्वारा आज पटना सिटी में विभिन्न योजनाओं की जाँच की गई। स्थल भ्रमण कर उन्होंने जनहित की महत्वपूर्ण विकासात्मक एवं लोक-कल्याणकारी योजनाओं में प्रगति का जायजा लिया।

1 min read

निरीक्षण पूर्वाह्न 10 बजे शुरू होकर लगभग दो घंटा चला।

जिलाधिकारी सबसे पहले श्री बड़ी पटनदेवी मंदिर गए एवं वहाँ निर्माणाधीन कार्यों का निरीक्षण किया। विदित हो कि माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के निदेश पर यहाँ श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मुख्य भवन का निर्माण कार्य चल रहा है। स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन-1 द्वारा निर्माण कार्य किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने निरीक्षण में पाया कि मुख्य भवन का निर्माण कार्य तेजी से हो रहा है। इस भवन में बेदी का भी निर्माण किया जा रहा है। मुख्य भवन के बगल में सीढ़ी का निर्माण भी किया जाएगा। शौचालयों की भी अच्छी व्यवस्था रहेगी। सभी कार्य में अच्छी प्रगति है।

जिलाधिकारी द्वारा स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन-1 के कार्यपालक अभियंता को मुख्य भवन का निर्माण कार्य 12 अक्टूबर, 2023 तक पूरा करने का निदेश दिया गया। मंदिर के महंत श्री विजय शंकर गिरि द्वारा बताया गया कि इस दुर्गापूजा से पूर्व नवनिर्मित मुख्य भवन में देवीजी की स्थापना की जाएगी। इस बार श्रद्धालुओं को यहाँ दुर्गापूजा के लिए अत्यंत उत्कृष्ट सुविधा उपलब्ध होगी। जिलाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता को महंत जी से विमर्श करते हुए टाइमलाईन के अनुसार मंदिर के गुंबद एवं सामने के मंडप का भी निर्माण शुरू कराने का निदेश दिया। डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि मंदिर परिसर के आस-पास के स्थलों को पर्यटन के दृष्टिकोण से विकसित किया जाएगा। पर्यटकों को हर तरह की सुविधा मिलेगी। इसके लिए पर्यटन विभाग द्वारा आवश्यक कार्य किया जा रहा है। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए गेस्ट हाउस का भी निर्माण किया जाएगा।

जिलाधिकारी द्वारा इसके बाद अगमकँुआ में शीतला मंदिर परिसर एवं आस-पास के स्थलों का निरीक्षण किया गया तथा श्रद्धालुओं की सुविधा एवं सुरक्षा हेतु प्रशासनिक प्रबंध का जायजा लिया गया। उन्होंने मंदिर के समीप जल-निकासी का प्रबंध देखा। ज़िलाधिकारी ने पाया कि मंदिर से लगे नाला में प्रवाह अभी भी सुगम नहीं है। एक साल से पटना नगर निगम के अजीमाबाद अंचल के कार्यपालक पदाधिकारी द्वारा इसके लिए कोई सार्थक प्रयास नहीं किया गया है।

साथ ही नगर कार्यपालक पदाधिकारी पूर्व सूचना के बावजूद काफ़ी विलंब से निरीक्षण समाप्त होने के समय आए। ज़िलाधिकारी द्वारा इसपर सख़्त नाराज़गी व्यक्त करते हुए अजीमाबाद अंचल के कार्यपालक पदाधिकारी से स्पष्टीकरण किया गया। साथ ही उन्हें एक सप्ताह के अंदर नाला की सम्पूर्ण सफाई सुनिश्चित कराने का निदेश दिया गया ताकि जल-प्रवाह में कोई अवरोध न आए। उन्होंने कार्यपालक पदाधिकारी तथा अजीमाबाद अंचल के कार्यपालक अभियंता को नमामि गंगे तथा रेलवे के अभियंताओं से समन्वय स्थापित कर जल-प्रवाह में आ रही तकनीकी समस्याओं को शीघ्र दूर करने का निदेश दिया।

आवश्यकतानुसार पाइप डालकर लेवलिंग करने को कहा गया।उन्होंने कहा कि नाला की निकासी पूर्णतः अवरोधमुक्त रहनी चाहिए।श्रद्धालुओं की सुविधा एवं सुरक्षा को देखते हुए मंदिर की चाहरदीवारी को ऊँचा करने का भी निदेश दिया गया।

जिलाधिकारी ने अनुमण्डल पदाधिकारी, पटना सिटी को सभी कार्यों में प्रगति का नियमित अनुश्रवण करते हुए दिये गये निदेशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित कराने को कहा।

अकबर ईमाम एडिटर ईन चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed