June 22, 2024

पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग ने ‘विश्व अंडा दिवस’ का आयोजन किया,अंतर्राष्ट्रीय अंडा आयोग ने प्रतिवर्ष अक्तूबर माह के दूसरे शुक्रवार को विश्व अंडा दिवस घोषित किया है। यह दिवस विश्व के सभी देशों में मनाया जाता है।

1 min read

दिनांक: 13 अक्टूबर 2023 स्थान: होटल, लेमन ट्री, पटना

विश्व अंडा दिवस 2023 ‘स्वस्थ भविष्य के लिए अंडे’

अंडा प्रोटीन एवं पोषक तत्वों का एक किफायती स्रोत है। प्रतिदिन अंडा सेवन एवं अंडों में पाए जाने वाले पोषक तत्वों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग, बिहार द्वारा ‘विश्व अंडा दिवस का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम का विधिवत शुरुआत मंचासीन अतिथियों का स्वागत एवं दीप प्रज्ज्वलन के उपरांत पशुपालन सूचना एवं प्रसार, बिहार के सहायक निदेशक, डॉ. दिवाकर प्रसाद, द्वारा स्वागत संबोधन के साथ किया गया। स्वागत संबोधन के बाद अंडा उत्पाद को बढ़ावा देने हेतु विभाग द्वारा संचालित योजनाओं से संबंधित लघु फिल्म का प्रदर्शन किया गया।

कार्यक्रम के अगले सत्र में डॉ. ब्रजभूषण बच्चू राज्य नोडल पदाधिकारी ने लेयर मुर्गी पालन योजना पर प्रकाश डालते हुए कहा कि राज्य को अंडा उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाने, पशुजन्य प्रोटीन के रूप में (अंडा) की उपलब्धता बढ़ाने एवं लाभकारी रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से समेकित मुर्गी विकास योजना के तहत लेयर मुर्गी पालन को बढ़ावा देने हेतु 10,000 क्षमता (फीड मील सहित) एवं 5,000 क्षमता का लेयर मुर्गी फार्म की स्थापना पर अनुदान की

योजना विभाग द्वारा संचालित किया जा रहा है।

इस अवसर पर डॉ. ज्ञानवेन्द्र कुमार वर्मा, कनीय शाथ पदाधिकारी द्वारा मानव स्वास्थ्य एवं पोषण पर अंडा सेवन का

प्रभाव एवं महत्त्व के बारे में विस्तार से जानकारी दिया गया। आगे उन्होंने कहा कि जो लोग नियमित रूप से अंडे का

सेवन करते हैं उनमें रोग प्रतिरोधक क्षमता का स्तर अधिक होता है। उन्होंने कहा कि इससे कुपोषण से भी निपटा जा सकता है।

श्री पंकज कुमार सिंह, प्रोफेसर बिहार पशु विज्ञान विश्वविद्यालय ने पोषण प्रतिरक्षा में अंडों की भूमिका पर विस्तार से

प्रकाश डाला। जीविका दीदियों ने बैकयार्ड मुर्गीपालन पर अपने अनुभव को साझा किया।

वैशाली से इस कार्यक्रम में भाग लेने आई अनुदान प्राप्त लेयर मुर्गी फार्म संचालिका श्रीमती निक्की कुमारी ने अपने

अनुभव को साझा किया।

इसके बाद अनुदान प्राप्त लेयर मुर्गी फार्म संचालक सह कुक्कुट व्यवसायी वैशाली जिला के श्री प्रतीक प्रकाश ने भी अपने अनुभव को साझा किया।

इस कार्क्रम में उपस्थित पोल्ट्री फीड निर्माता कंपनी गोदरेज एवं न्यूट्रीटेकके प्रतिनिधियों ने भी अपने अनुभवों एवं विचारों को साझा किया।

‘Wenky’s India Ltd के ए. जी. एम. श्री उपेन्द्र कुमार पासवान ने वर्तमान परिदृश्य में राज्य में लेयर मुर्गीपालन व्यवसाय पर अपना अनुभव साझा किया।

NECC (नेशनल एग कोऑर्डिनेशन कमेटी) के श्री विनोद पाण्डेय ने अंडा उत्पादन में समस्याएं एवं समाधान पर अपने विचारों एवं सुझावों को साझा किया।

कार्यक्रम की विशिष्ट अतिथि पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग, बिहार की प्रधान सचिव डॉ. एन. विजयलक्ष्मी ने अपने

संबोधन में कहा कि विश्व अंडा दिवस के आयोजन उद्देश्य अंडे के विशेष गुणों के बारे में जागरूकता फैलाना है।

विश्व

अंडा दिवस अक्टूबर के दूसरे शुक्रवार को दुनिया भर में मनाया जाता है। इस दिवस का उद्देश्य अंडे के विशेष गुणों के बारे में लोगों के बीच जागरूकता फैलाना है। उन्होंने कहा, इस वर्ष विश्व अडा दिवस का थीम है “बेहतर जीवन के लिए अंडा” | Eggs for a healthy future’ | प्रधान सचिव महोदया द्वारा यह भी बताया उन्होंने कहा कि बिहार नीली क्रांति (मछली उत्पादन) की ओर तेजी से अग्रसर है। अब रजत क्रांति (अंडा उत्पादन) के क्षेत्र में भी काफी तेजी से आगे बढ़ रहा है। उनके द्वारा बताया गया कि इस योजना का लाभ उठा कर कई उद्यमी किसान आज सफलता का परचम लहरा रहे हैं। इनकी सफलता समाज में आत्मनिर्भरता का नजीर पेश कर रहा है। परिणामस्वरूप आज बिहार में प्रतिदिन अंडा उत्पादन की क्षमता में बढ़ोतरी हुई

है। बिहार में मध्याह्न भोजन और आंगनबाड़ी केंद्रों पर बभी बच्चों को सप्ताह में एक दिन अंडा देने का प्रावधान है

| माहवारी के समय अच्छे प्रोटीन के रूप में अपने नियमित आहार में अंडा का सेवन करना आवश्यक है।

कार्यक्रम के उद्घाटनकर्ता एवं मुख्य अतिथि माननीय मंत्री, पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग, बिहार श्री आफाक आलम ने कहा कि भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा अंडा उत्पादक देश है यहाँ प्रति व्यक्ति, प्रति वर्ष 69 जंडे उपलब्ध हैं जबकि राष्ट्रीय पोषण संस्थान के अनुसार प्रति व्यक्ति करीब 180 अंडे उपलब्ध होने चाहिए। देश में अंडे का उत्पादन 83 अरब के करीब है।

श्री आलम ने कहा कि आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट के अनुसार बिहार में वर्ष 2017-18 में 121.85 करोड़ अंडा का उत्पादन हुआ जो वर्ष 2022-23 में बढ़कर 306.66 करोड़ तक पहुँच गया। इस तरह अंडा उत्पादन में 26.89% की वार्षिक वृद्धि दर्ज की गई। माननीय मंत्री ने आगे कहा कि किसानों अपनी आय में वृद्धि एवं अपनी दैनिक जरूरतों को पूरा करने के लिए राज्य सरकार द्वारा संचालित लेयर मुर्गीपालन योजना से जुड़ना चाहिए।

सभी गणमान्य अतिथियों के संबोधन के उपरान्त श्री नवदीप शुक्ला, निदेशक, पशुपालन, द्वारा धन्यवाद ज्ञापित कर उद्घाटन सत्र का समापन किया गया।

उद्घाटन सत्र के उपरान्त तकनीकि सत्र में डॉ. ब्रजभूषण बच्चू डॉ. ज्ञानवेन्द्र कुमार वर्मा, मुर्गी पालकों, शिप्रा हैचरी, वैशाली एवं necc के प्रतिनिधियों द्वारा अंडा व्यवसाय एवं मुर्गी पालन के क्षेत्र से संबंधित समस्याएँ एवं समाधान पर परिचर्चा किया गया । धन्यवाद ज्ञापन के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया।

World Egg Day 2023 ‘Eggs for a healthy future’

अकबर ईमाम एडिटर ईन चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed