May 20, 2024

जनता के दरबार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कार्यक्रम में शामिल हुए 107 लोगों की सुनी समस्यायें, अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश

1 min read

पटना, 12 जून 2023 :- मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार आज 4 देशरत्न मार्ग स्थित मुख्यमंत्री सचिवालय परिसर में आयोजित ‘जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में शामिल हुए। ‘जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे 107 लोगों की समस्याओं को सुना और संबंधित विभागों के अधिकारियों को समाधान के लिए समुचित कार्रवाई के निर्देश दिए।

आज ‘जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में सामान्य प्रशासन विभाग, स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग, समाज कल्याण विभाग पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण • विभाग, वित्त विभाग, राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण विभाग, अल्पसंख्यक कल्याण विभाग, विज्ञान एवं प्रावैधिकी विभाग, सूचना प्रावैधिकी विभाग, कला, संस्कृति एवं युवा विभाग, श्रम संसाधन विभाग, आपदा प्रबंधन विभाग, खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग, ग्रामीण विकास विभाग तथा पंचायती राज विभाग से संबंधित मामलों पर सुनवाई हुयी।

‘जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में सहरसा जिले से आए एक बुजुर्ग फरियादी ने मुख्यमंत्री से गुहार लगाते हुए कहा कि मेरे खेत को कुछ दबंगों ने कब्जा कर लिया है। और मुझसे 5 लाख रूपये की मांग कर रहे हैं। पैसा नहीं देने पर खेत में लगी फसल को उजाड़ देते हैं। थाने का लगातार चक्कर लगा रहे हैं बावजूद इसके कोई सुनवाई नहीं हो रही है। मुख्यमंत्री ने राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग को उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया ।.

अररिया जिले से आए एक युवक ने गुहार लगाते हुए मुख्यमंत्री से कहा कि मेरे पड़ोसी द्वारा मेरी निजी भूमि पर कब्जा किया जा रहा है। इसकी शिकायत थाना में करने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। वहीं अररिया जिले से ही आए एक अन्य युवक ने मुख्यमंत्री से आग्रह करते हुए कहा कि सार्वजनिक भूमि को अधिग्रहित कर दबंगों द्वारा निजी रास्ता बना लिया गया है। इस संबंध में शिकायत की गई है, लेकिन अब तक किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं हो पायी है। मुख्यमंत्री ने संबंधित विभाग को जांचकर उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

किशनगंज जिले से आए एक फरियादी ने मुख्यमंत्री से शिकायत करते हुए कहा कि उनकी निजी भूमि का गलत चौहद्दी बताकर जमीन कब्जा कर लिया गया है। मुख्यमंत्री ने राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग को समुचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया। कटिहार जिले से आए एक बुजुर्ग ने मुख्यमंत्री से फरियाद करते हुए कहा कि बासगीत पर्चे से प्राप्त जमीन पर पिछले 8 वर्षों से अब तक उन्हें कब्जा नहीं दिलाया गया है, जिससे पूरे परिवार को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मुख्यमंत्री ने राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग को समुचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया ।

लखीसराय जिले से आए एक फरियादी ने मुख्यमंत्री से गुहार लगाते हुए कहा कि उनकी निजी जमीन पर दबंगों द्वारा कब्जा कर लिया गया है। सारे कागजात प्रस्तुत किए जाने के बाद भी मामले का हल नहीं हो पा रहा है। मुख्यमंत्री ने संबंधित विभाग को जांचकर उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

पूर्णिया जिले से आये एक युवक ने मुख्यमंत्री से निवेदन करते हुए कहा कि 9 | डिसमिल बासगीत पर्चावाली जमीन मिली है उसमें से 4 डिसमिल जमीन दबंगों द्वारा कब्जा कर ली गयी है। मुख्यमंत्री ने राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग को उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

दरभंगा जिले से आए एक युवक ने मुख्यमंत्री से फरियाद करते हुए कहा कि उसकी निजी जमीन की घेराबंदी कराने के लिए वर्ष 2021 में अंचलाधिकारी और जिलाधिकारी को आवेदन दिया गया है, बावजूद इसके कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। वहीं दरभंगा जिले से ही आए एक युवक ने गुहार लगाते हुए कहा कि स्कूल का फंड पिछले 20 सालों से आ रहा है और लौट जा रहा है। इसकी वजह है कि स्कूल की भूमि को कुछ लोगों द्वारा कब्जा कर लिया गया है। इस बात की सूचना संबंधित अधिकारी को दिये जाने के बाद भी कोई कारगर कदम नहीं उठाया जा रहा है, जिससे स्कूल का विकास नहीं हो पा रहा है।  वही दरभंगा जिले से ही आए एक अन्य फरियादी ने बताया कि अतिक्रमण हटाए जाने के लिए अधिकारियों को सूचित किए जाने के बाद भी अतिक्रमण नहीं हटाए जाने की वजह से परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मुख्यमंत्री ने संबंधित विभाग को जांचकर उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

मुजफ्फरपुर जिले से आए एक व्यक्ति ने मुख्यमंत्री से आग्रह करते हुए कहा कि उनकी जमीन को कब्जा कर लिया गया है और खाली करने के लिए कहने पर जान से मारने की धमकी दी जाती है। वहीं मुजफ्फरपुर जिले से ही आए एक अन्य फरियादी ने गुहार लगाते हुए कहा कि मेरी मां की कोरोना से मौत हो गई लेकिन अनुग्रह अनुदान का भुगतान अभी तक नहीं हो पाया है। वहीं मुजफ्फरपुर जिले से ही आए एक अन्य फरियादी ने गुहार लगाते हुए कहा कि उनकी निजी भूमि नदी में चली गयी है और अब उस पर पुल का निर्माण हो रहा है लेकिन मुझे किसी प्रकार का मुआवजा नहीं दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने संबंधित विभाग को समुचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया ।

•भागलपुर जिले से आये एक व्यक्ति ने मुख्यमंत्री से आग्रह करते हुए कहा कि उनकी रैयती भूमि पर दबंगों द्वारा कब्जा कर लिया गया है और भूमि को खाली करने के लिए कहने पर गोली मारने की धमकी दी जा रही है। इस मामले की संबंधित अधिकारी से शिकायत किए जाने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है। मुख्यमंत्री ने राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग को समुचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

मुजफ्फरपुर जिले से आए एक फरियादी ने गुहार लगाते हुए कहा कि मेरे ससुर की कोरोना से मौत हो जाने के बाद भी सरकार द्वारा मिलने वाली अनुग्रह अनुदान की राशि उपलब्ध नहीं करायी गई है। मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग को उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

भोजपुर जिले से आए एक युवक ने मुख्यमंत्री से गुहार लगाते हुए कहा कि निजी रास्ते को बंद कर दिया गया है, जबकि आसपास हमलोगों की भूमि उपलब्ध है। इसकी शिकायत करने के बाद भी रास्ते को नहीं खुलवाया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने संबंधित विभाग को जांचकर समुचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया। 

मधेपुरा जिले से आए एक फरियादी ने गुहार लगाते हुए कहा कि पारिवारिक विवाद में मेरी निजी जमीन गलत तरीके से दूसरे के हाथों बेच दी गई है। इसकी जानकारी संबंधित अधिकारी को दिए जाने के बाद भी किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

वहीं मधेपुरा जिले से ही आए एक अन्य फरियादी ने मुख्यमंत्री से आग्रह करते हुए कहा कि जमीन विवरणी में उचित सुधार की जाए ताकि मैं अपनी भूमि को सही तरीके से अधिग्रहित कर सकूं। मुख्यमंत्री ने संबंधित विभाग को जांचकर उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया। 

शिवहर जिले से आए एक फरियादी ने मुख्यमंत्री से गुहार लगाते हुए कहा कि उनके पिता जी ने 50 साल पहले जिस जमीन को खरीदा था उसमें से 7 धूर जमीन तीन साल पहले बिक्री की गई लेकिन खरीददार द्वारा जबरन 12 धूर जमीन पर कब्जा कर लिया गया है। इसकी शिकायत हमने संबंधित विभाग से की, पर आज तक कोई कार्रवाई नहीं होने से परेशानी हो रही है। मुख्यमंत्री ने संबंधित विभाग से जांचकर उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

बेगूसराय जिले से आयी एक महिला फरियादी ने मुख्यमंत्री से गुहार लगाते हुए कहा कि मेरे पति दिव्यांग हैं और मेरी निजी भूमि को दबंगों द्वारा कब्जा कर लिया गया है। इसकी शिकायत हमने संबंधित विभाग से की, लेकिन अब तक किसी प्रकार की कोई सहायता नहीं की जा रही है, जिससे हमें अपनी ही भूमि के लिए दर-दर ठोकर खानी पड़ रही है। मुख्यमंत्री ने संबंधित विभाग से जांचकर उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

‘जनता के दरबार में मुख्यमंत्री’ कार्यक्रम में वित्त, वाणिज्य कर एवं संसदीय कार्य मंत्री श्री विजय कुमार चौधरी, राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री श्री आलोक कुमार मेहता, ग्रामीण विकास मंत्री श्री श्रवण कुमार, समाज कल्याण मंत्री श्री मदन सहनी, शिक्षा मंत्री श्री चंद्रशेखर, खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्रीमती लेशी सिंह, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण मंत्री श्री संतोष कुमार सुमन, कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के मंत्री श्री जितेन्द्र कुमार राय, पंचायती राज मंत्री श्री मुरारी प्रसाद गौतम, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री श्री मो० जमां खान, श्रम संसाधन मंत्री श्री सुरेन्द्र राम, विज्ञान एवं प्रावैधिकी मंत्री श्री सुमित कुमार सिंह, आपदा प्रबंधन मंत्री श्री शाहनवाज, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री दीपक कुमार, मुख्य सचिव श्री आमिर सुबहानी, पुलिस महानिदेशक श्री आर०एस० भट्टी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ० एस० सिद्धार्थ, संबंधित विभागों के अपर मुख्य सचिव / प्रधान सचिव / सचिव, मुख्यमंत्री के सचिव श्री अनुपम कुमार, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी श्री गोपाल सिंह, पटना के जिलाधिकारी श्री चंद्रशेखर सिंह तथा वरीय पुलिस अधीक्षक श्री राजीव मिश्रा उपस्थित थे।

संख्या -cm-356 12/06/2023

अकबर ईमाम एडिटर इन चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed