February 21, 2024

आयुक्त श्री कुमार रवि ने पटना मैराथन की तैयारियों की समीक्षा की

1 min read

पटना, बुधवार, दिनांक 13.12.2023ः आयुक्त, पटना प्रमंडल, पटना श्री कुमार रवि की अध्यक्षता में आज ‘‘पटना मैराथन आयोजन समिति’’ की बैठक हुई। समाहरणालय स्थित सभा कक्ष में आयोजित इस बैठक में नशा मुक्ति के व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु पटना में दिनांक 17.12.2023 (रविवार) को होने वाले पटना मैराथन की तैयारियों की समीक्षा की गई तथा आयुक्त द्वारा पदाधिकारियों को आवश्यक निदेश दिया गया।

मद्यनिषेध, उत्पाद एवं निबंधन विभाग, बिहार सरकार द्वारा इसका आयोजन एनईबी स्पोटर््स के सहयोग से किया जा रहा है। इसका टैगलाइन रन फॉर नशामुक्त बिहार (Run for Nashamukta Bihar) है। बैठक में एनईबी के प्रतिनिधि श्री सुनील शेट्टी द्वारा पटना मैराथन के विभिन्न बिन्दुओं पर विस्तार से प्रकाश डाला गया। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष 27 नवम्बर को पटना हाफ मैराथन का सफलतापूर्वक आयोजन कराया गया था। प्रमंडलीय आयुक्त द्वारा आयोजकों से पटना में अगले साल से मैराथन का आयोजन कराने का आह्वान किया गया था तथा प्रतिभागियों से भाग लेने की अपील की गई थी। आयुक्त ने कहा था कि मैराथन के आयोजन में सभी प्रकार की प्रशासनिक सुविधा प्रदान की जाएगी। श्री शेट्टी ने बताया कि उसी समय से हम लोगों ने सोच लिया कि वर्ष 2023 में पटना में मैराथन कराना है। इस साल 17 दिसंबर को यह कराया जा रहा है। पिछले वर्ष हाफ मैराथन में लगभग 8,500 प्रतिभागियों ने भाग लिया था। इस वर्ष पटना मैराथन में लगभग 10,000 लोगों के भाग लेने की संभावना है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया द्वारा इसका स्पॉन्सरशिप किया जा रहा है। मैराथन से पूर्व एक्सपो भी लगाया जाएगा जिसमें राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के ब्रैंड भाग लेंगे। प्रतिभागी धावकों को रेस डे कीट भी प्रदान किया जाएगा।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि पटना मैराथन का मूल उद्देश्य नशा-मुक्ति के प्रति आम जन को जागरूक एवं संवेदनशील करना है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा राज्य में पूर्ण शराबबंदी लागू की गई है। समाज सुधार अभियान के तहत पूरे बिहार में नशा-मुक्ति के प्रति नियमित तौर पर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। आयुक्त श्री रवि ने कहा कि पटना मैराथन के आयोजन से नशा-मुक्ति के साथ स्वास्थ्य तथा फिटनेस को प्रोत्साहित करने के प्रयास को बल मिलेगा। उन्होंने नौजवानों सहित आम जनता से हर प्रकार की नशा से दूर रहने का आह्वान किया।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि पटना मैराथन की सभी तैयारियों को ससमय सुनिश्चित करने के लिए सभी सम्बद्ध विभागों के पदाधिकारियों को आपस में समन्वय स्थापित कर सभी कार्यों को समय से सम्पन्न करना होगा। मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन, जिला प्रशासन, पुलिस, स्वास्थ्य, नगर निगम, परिवहन, यातायात, पीएचईडी, विद्युत, अग्निशमन, आपदा प्रबंधन, विधि-व्यवस्था सहित सभी संलग्न पदाधिकारियों को सजग, तत्पर एवं प्रतिबद्ध रहना होगा।

विदित हो कि इस बार पटना मैराथन में चार विभिन्न श्रेणियों में प्रतिभागी भाग लेंगे। मैराथन (42 कि.मी.) में 200 (दो सौ); हाफ मैराथन (21 कि.मी.) में 800 (आठ सौ); 10 कि.मी. की श्रेणी में 2,000 (दो हजार) तथा 05 कि.मी. वर्ग में 7,000 (सात हजार) प्रतिभागी भाग लेंगे। गाँधी मैदान, पटना से मैराथन की शुरूआत की जाएगी जो निर्धारित दूरी के अनुसार जेपी गंगा पथ, खास महल दीघा दियारा, इन्दिरा नगर एवं वापस जेपी गंगा पथ, गोलघर, गाँधी मैदान में सम्पन्न होगा।

मैराथन, हाफ मैराथन, 10 कि.मी. तथा 05 कि.मी. श्रेणियों का फ्लैग-ऑफ का समय क्रमशः 5.30 पूर्वाह्न, 5.30 पूर्वाह्न, 7.00 पूर्वाह्न तथा 8.30 पूर्वाह्न है।

प्रतिभागियों द्वारा ऑनलाईन निबंधन कराया जा रहा है। निबंधन शुक्रवार तक https://nebsports.in/patna-marathon/ पर कराया जा सकता है। सोशल मीडिया फेसबुक एवं इंस्टाग्राम से भी इसका वृहत स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जा रहा है।

विभिन्न श्रेणियों में बेस्ट प्रदर्शन करने वाले पुरूष एवं महिला प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया जाएगा।

मैराथन के लिए लगभग 75 तकनीकी ऑफिसर्स तथा 150 वोलन्टियर्स प्रतिनियुक्त रहेंगे। 20 सहायता स्टेशन एवं सभी श्रेणियों के लिए लीड वेहिकल का प्रबंध रहेगा।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि पटना मैराथन में राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के नामी-गिरामी धावक भाग लेंगे। अतः सभी व्यवस्था त्रुटिरहित होनी चाहिए। उत्कृष्ट भीड़-प्रबंधन, सुचारू यातायात तथा सुदृढ़ विधि-व्यवस्था संधारण हेतु सभी संबंधित पदाधिकारी सजग एवं तत्पर रहें। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथियों के भाग लेने की सम्भावना के मद्देनजर यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी निर्माण कार्य गुणवत्तापूर्ण तरीके से हो। आयोजक से समन्वय कर गाँधी मैदान के अन्दर एवं बाहर आवश्यकतानुसार बैरिकेडिंग की व्यवस्था भी करायी जाए। तत्सम्बन्धी ठोसता प्रमाण पत्र भवन कार्यपालक अभियंता समर्पित करेंगे। पटना नगर निगम द्वारा पब्लिक एड्रेस सिस्टम की समुचित व्यवस्था की जाएगी ताकि आवश्यकतानुसार नियमित उद्घोषणा की जाए।

आयुक्त श्री रवि ने अपर जिला दण्डाधिकारी, विधि-व्यवस्था को आयोजक के साथ कार्यक्रम स्थल का भ्रमण कर विधि-व्यवस्था संधारण के दृष्टिकोण से आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने का निदेश दिया।

जिलाधिकारी, पटना डॉ. चन्द्रशेखर सिंह, वरीय पुलिस अधीक्षक, पटना श्री राजीव मिश्रा एवं नगर आयुक्त, पटना नगर निगम श्री अनिमेष कुमार पराशर द्वारा आयुक्त के संज्ञान में लाया गया कि निदेशानुसार सभी व्यवस्था ससमय पूरी की जा रही है।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि आयोजकों द्वारा की गयी चिकित्सा व्यवस्था के अतिरिक्त सिविल सर्जन, पटना द्वारा गाँधी मैदान में एम्बुलेन्स के साथ चिकित्सा दल की प्रतिनियुक्ति की जाएगी। मैराथन के मार्ग में भी पर्याप्त संख्या में एम्बुलेन्स के साथ-साथ चलंत चिकित्सा दल की प्रतिनियुक्ति की जाएगी। सिविल सर्जन को एक एएलएस (एडवांस्ड लाईफ सपोट) एम्बुलेंस, दो बीएलएस (बेसिक लाईफ सपोट) एम्बुलेंस तथा बाईक पर पाँच चिकित्सा कर्मियों की प्रतिनियुक्ति सुनिश्चित करने का निदेश दिया गया। आयुक्त श्री रवि ने अस्पतालों से समन्वय कर आकस्मिक चिकित्सा प्लान सुनिश्चित करने का निदेश दिया। आपातकालीन स्थिति के लिए पीएमसीएच में आवश्यक व्यवस्था सिविल सर्जन, पटना द्वारा की जाएगी। मैराथन के मार्ग में अवस्थित निजी अस्पतालों से समन्वय कर आपातकालीन व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाएगी।

महाप्रबंधक, पेसू उक्त स्थल पर विद्युत व्यवस्था कार्य का पर्यवेक्षण करते हुए ठोसता प्रमाण पत्र समर्पित करेंगे।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि कार्यक्रम के सफल आयोजन हेतु मैराथन के मार्ग में समुचित यातायात व्यवस्था आवश्यक है। पुलिस अधीक्षक, यातायात विस्तृत ट्रैफिक प्लान तैयार करेंगे, जिसमें One-way/Two-way मार्ग का स्पष्ट उल्लेख होगा। पुलिस अधीक्षक, यातायात आयोजक से समन्वय कर मार्ग में आवश्यकतानुसार बैरिकेडिंग एवं ड्रॉप गेट का निर्माण कराएँगे। मार्ग में ट्रैफिक डायवर्ट किए जाने वाले स्थलों की पहचान कर यातायात पुलिस की प्रतिनियुक्ति करेंगे। गाँधी मैदान में कार्यक्रम के दौरान काफी भीड़ सम्भावित है। उक्त के मद्देनजर गाँधी मैदान के चारांे ओर भी यातायात को सुचारू किया जाना अपेक्षित है। पार्किंग की भी सुदृढ़ व्यवस्था रहनी चाहिए।

नगर कार्यपालक पदाधिकारी, पटना नगर निगम आयोजक से समन्वय स्थापित कर पेयजल की सुदृढ़ व्यवस्था सुनिश्चित कराएंगे एवं आवश्यकतानुसार पीएचईडी से समन्वय कर अतिरिक्त टैंकर/वाटर एटीएम लगाएंगे। आयोजक द्वारा की जा रही शौचालय व्यवस्था के अतिरिक्त गाँधी मैदान में मोबाइल टॉयलेट/यूरिनल व्यवस्था भी नगर कार्यपालक पदाधिकारी, पटना नगर निगम/ पीएचईडी द्वारा करायी जाएगी।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि मैराथन मार्ग की पूरी तरह से साफ-सफाई करायी जाय। नगर कार्यपालक पदाधिकारी, पटना नगर निगम इसे सुनिश्चित करेंगे। साथ ही मैराथन मार्ग में प्रकाश की पर्याप्त व्यवस्था की जाय। इसके अतिरिक्त कार्यक्रम स्थल, गाँधी मैदान के मंच के आसपास के क्षेत्र को भी समतल करा दिया जाय।

अपर समाहर्त्ता, आपदा प्रबंधन आयोजक से समन्वय कर यह सुनिश्चित करेंगे कि आपदा प्रबंधन एवं भीड़ नियंत्रण से संबंधित सभी आवश्यक व्यवस्था की गई है।

उक्त अवसर पर गाँधी मैदान के इर्द गिर्द, कार्यक्रम स्थल एवं मार्ग में विभिन्न चिन्हित स्थलों पर विधि-व्यवस्था संधारण के लिए पर्याप्त संख्या में दण्डाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति हेतु आवश्यक कार्रवाई अपर जिला दण्डाधिकारी, विधि व्यवस्था पटना एवं प्रभारी पदाधिकारी, जिला नियंत्रण कक्ष द्वारा की जाएगी। साथ ही चिन्हित स्थलों पर अस्थायी नियंत्रण कक्ष भी क्रियाशील रखा जाएगा।

बैठक में आयुक्त के साथ सचिव, आयुक्त उत्पाद-सह-महानिरीक्षक, निबंधन श्री विनोद सिंह गुंजियाल; जिलाधिकारी, पटना डॉ. चन्द्रशेखर सिंह, वरीय पुलिस अधीक्षक, पटना श्री राजीव मिश्रा; नगर आयुक्त, पटना नगर निगम श्री अनिमेष कुमार पराशर; पुलिस अधीक्षक यातायात, पटना श्री पूरन कुमार झा, अनुमंडल पदाधिकारी, पटना सदर श्री श्रीकान्त कुन्डलिक खाण्डेकर, संबंधित विभागों के पदाधिकारी, सहायक महाप्रबंधक, भारतीय स्टेट बैंक एवं अन्य भी उपस्थित थे।

उप निदेशक,
आईपीआरडी, पटना प्रमंडल

अकबर ईमाम एडिटर ईन चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *