June 22, 2024

मोबाईल क्रेचेज़ द्वारा सतत जीविकोपार्जन योजना- शहरी परियोजना अंतर्गत राज्यस्तरीय संवाद कार्यक्रम आयोजित

1 min read


आज दिनांक 19 दिसंबर 2023 को सतत जीविकोपार्जन योजना शहरी के अंतर्गत BRAC के सहयोग से अति-गरीब समुदायों के लिए बिहार ग्रामीण आजीविका संवर्धन सोसाइटी के माध्यम से कार्यान्वित योजना के तहत कार्यबल में महिलाओं की भागीदारी को प्रोत्साहित करने और प्रारंभिक बचपन के विकास के मुद्दे पर विभिन्न संबंधित विभागों एवं संस्थाओं के साथ एक समनवय कार्यशाला का आयोजन योजना की तकनीकि संस्था मोबाईल क्रेचेज़ द्वारा किया गया | कार्यक्रम का संचालन एवं स्वागत उद्बोधन में मोबाईल क्रेचेज़ के राज्य प्रमुख श्री रुपेश कुमार सिन्हा ने कार्यक्रम की अवधारणा के बारे में विस्तार से जानकारी साझा किया |

कार्यक्रम में मुख्य रूप से जीविका बिहार, समेकित बाल विकास सेवायें, सक्षम, महिला एवं बाल विकास निगम, राष्ट्रीय आजीविका मिशन शहरी, BRAC, प्रोजेक्ट कंसर्न इंटरनेशनल सहित कई राष्ट्रीय संस्थाओं एवं विभिन्न स्वयं सेवी संगठनों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया |

सत्र के प्रारंभ में मोबाईल क्रेचेज़ के प्रतिनिधि द्वारा लघु फिल्म के माध्यम से बताया गया कि संस्था 18 राज्यों में सरकार एवं अन्य संस्थाओं के सहयोग से क्रेच का संचालन एवं प्रारंभिक बचपन के विकास के मुद्दे पर अब तक 8,60,000 बच्चों एवं उनके परिवारों के साथ काम कर चुकी है | सतत जीविकोपार्जन योजना शहरी के अंतर्गत गया जिले में एक आदर्श पालना घर का संचालन किया जा रहा है साथ ही पटना में संचालन प्रक्रियाधीन है |

प्रोजेक्ट कंसर्न इंटरनेशनल के अमित कुमार ने बताया कि NSSO सर्वेक्षण से स्पष्ट है कि शहरी इलाके में एक बीमार व्यक्ति के भर्ती होने पर औसतन 26,475 रुपये खर्च होता है | ऐसे में सतत जीविकोपार्जन योजना शहरी से आच्छादित समुदायों के स्वास्थ्य एवं पोषण पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है |

BRAC के प्रतिनिधि श्री अजीत रंजन ने बताया कि शहर के अतिनिर्धन परिवारों के लिए योजना का संचालन BRAC के लिए एक नया अनुभव है | ऐसे में यह परियोजना उनके लिए काफी चुनौतीपूर्ण है |

सत्र के अगले चरण में आयोजित पैनल चर्चा में जिला प्रोग्राम पदाधिकारी, पटना, महिला एवं बाल विकास निगम, सक्षम, जीविका एवं राष्ट्रीय आजीविका मिशन शहरी के प्रतिनिधियों के साथ कार्यबल में महिलाओं की संख्या बढाने तथा बच्चो के प्रारंभिक विकास के लिये विभिन्न विभागों को साथ आने तथा साथ मिलकर काम करने की आवश्यकता बताई | जीविका के कार्यक्रम समन्वयक ने श्रीमती महुआ राय चौधरी ने विभिन्न विभागों के प्रतिनिधियों के साथ आयोजित इस तरह की कार्यशाला को नियमित अंतराल पर आयोजित करने की आवश्यकता बताई | पैनल चर्चा का संचालन मोबाईल क्रेचेज़ की कार्यकारी निदेशक चिरोश्री घोष ने किया |

कार्यक्रम के अंत में मोबाईल क्रेचेज़ के राज्य प्रतिनिधि श्री रुपेश कुमार सिन्हा द्वारा धन्यवाद ज्ञापन किया गया |

अकबर ईमाम एडिटर ईन चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed