February 21, 2024

डीएम व एसएसपी ने की लोक सभा आम निर्वाचन, 2024 की तैयारियों की समीक्षा; पदाधिकारियों को सुदृढ़ समन्वय स्थापित रखने का दिया निर्देश

1 min read

डीएम व एसएसपी ने कहाः स्वतंत्र, निष्पक्ष, भयमुक्त, पारदर्शी एवं उत्तरदायित्वपूर्ण चुनाव सम्पन्न कराना प्रशासन की सर्वाेच्च प्राथमिकता; सभी पदाधिकारी इसके लिए सजग, तत्पर एवं प्रतिबद्ध रहेंगे

पटना, मंगलवार, दिनांक 06.02.2024ः जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी, पटना श्री शीर्षत कपिल अशोक एवं वरीय पुलिस अधीक्षक, पटना श्री राजीव मिश्रा द्वारा आज समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में लोक सभा आम निर्वाचन, 2024 की तैयारियों की समीक्षा की गई। अधिकारीद्वय ने सभी पदाधिकारियों को भारत निर्वाचन आयोग के निदेशों का अक्षरशः अनुपालन करने को कहा। जिलाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि आगामी लोक सभा चुनाव को देखते हुए निरोधात्मक कार्रवाई एवं शस्त्र सत्यापन पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। असामाजिक तत्वों के विरूद्ध दं.प्र.सं. की सुसंगत धाराओं के तहत कार्रवाई करने का निदेश दिया गया। जिलाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक ने शस्त्रों की अनुज्ञप्तियों का सत्यापन कराने एवं शस्त्र अधिनियम का सख्ती से अनुपालन करने का निदेश दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि लोक सभा चुनाव के अवसर पर विभिन्न कोषांग क्रियाशील रहेंगे। सभी वरीय नोडल पदाधिकारी एवं नोडल पदाधिकारी अंतर्काेषांगीय समन्वय सुनिश्चित कर अपने-अपने दायित्वों का बखूबी निर्वहन करेंगे। जिलाधिकारी द्वारा उत्कृष्ट बूथ-लेवल कॉम्युनिकेशन प्लान बनाने का निदेश दिया गया।

जिलाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक द्वारा अधिकारियों को लोक सभा आम निर्वाचन, 2024 के आलोक में व्यय-संवेदनशील पॉकेट्स एवं व्यय-संवेदनशील निर्वाचन क्षेत्रों की पहचान करने तथा निर्वाचन व्यय का सघन अनुश्रवण करने का निदेश दिया गया है। जिलाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि इस कार्य हेतु डिस्ट्रिक्ट इंटेलिजेंस कमिटि (District Intelligence Committee) पूर्व से ही गठित है। समिति में राज्यकर संयुक्त आयुक्त, सभी अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, सहायक उत्पाद आयुक्त, सहायक आयुक्त सीमा शुल्क, अग्रणी विकास प्रबंधक (एलडीएम), आयकर अधिकारी एवं अन्य बतौर सदस्य हैं । आप सभी कमिटि से समन्वय कर भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों के अनुसार इस मामले में लगातार सक्रिय रहें ।

डीएम ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग के निदेशों का अक्षरशः अनुपालन करते हुए स्वच्छ, निष्पक्ष, पारदर्शी एवं शांतिपूर्ण चुनाव कराना प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। निर्वाचन व्यय अनुश्रवण हेतु सभी प्रवर्तन एजेंसियों के बीच सार्थक समन्वय होना आवश्यक है। आयोग द्वारा निर्धारित मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के अनुसार लगातार नजर रखी जाए। बड़ी मात्रा में अवैध नगद, मादक पदार्थों, कीमती धातुओं इत्यादि को नियमानुसार जप्त किया जाए। एलडीएम पैसों के अत्याधिक मात्रा में लेन-देन पर नजर रखेंगे एवं प्रतिवेदित करेंगे। चुनाव से पहले अथवा चुनाव के दौरान किसी खाता से असामान्य एवं बड़ी राशि की निकासी अथवा ट्रान्जैक्शन हो रहा है तो इसकी भी सूचना देने का निदेश दिया गया। कुछ खास बैंक खातों से छोटी-छोटी मात्रा में ऑनलाईन/डिजिटल माध्यम से कई व्यक्तियों के खाते में राशि के अंतरण पर विशेष ध्यान देने का निदेश दिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि निर्वाचन क्षेत्र में करेंसी की मांग में पहले से 20 प्रतिशत या उससे अधिक वृद्धि पर नजर रखा जाए। मतदाताओं को प्रलोभन-मुक्त मतदान हेतु अभिप्रेरित करने के लिए सभी स्टेकहोल्डर्स सजग रहें।

डीएम ने कहा कि लोक सभा आम चुनाव का प्रेस नोट जारी होते ही आदर्श आचार सहिता प्रभावी हो जाता है। इसका अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करना सभी पदाधिकारियों का दायित्व है। उन्होंने कहा कि निर्वाचन व्यय के अनुश्रवण हेतु कोषांग २४*७ क्रियाशील रहेगा। सहायक व्यय प्रेक्षकों की नियुक्ति के साथ फ्लाईंग स्क्वायड एवं स्टैटिक सर्विलांस टीम का भी गठन किया जाएगा।

डीएम ने कहा कि निर्वाचन कार्य में संलग्न हर एक पदाधिकारी एवं कर्मी को विधिवत प्रशिक्षण दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण निर्वाचन प्रक्रिया का एक महत्वपूर्ण अंग है । यह पदाधिकारियों एवं कर्मियों को भारत निर्वाचन आयोग के निदेशों का त्रुटिरहित, निष्पक्ष एवं विश्वसनीय ढंग से अनुपालन सुनिश्चित करने के योग्य बनाएगा।

डीएम व एसएसपी ने लोक सभा चुनाव के दरम्यान आयोग के निदेशानुसार आदर्श आचार संहिता का अनुपालन एवं विधि-व्यवस्था संधारण पर विशेष ध्यान देने का निदेश दिया।

जिलाधिकारी ने सभी पदाधिकारियों को भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

डीएम ने सभी निर्वाचक निबंधन पदाधिकारियों को मतदान केन्द्रों पर सुनिश्चित न्यूनतम सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने का निदेश दिया।

डीएम ने अधिकारियों को निदेश दिया कि चुनाव में मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए गाँव-गाँव में अभियान चलाएँ तथा लोगों को मतदान करने के लिए प्रोत्साहित करें। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों में मतदान के प्रति उदासीनता अच्छी स्थिति नहीं है। इसमें परिवर्तन लाने के लिए स्वीप गतिविधि अंतर्गत नियमित तौर पर कार्यक्रम का आयोजन करें। जिन मतदान केन्द्रों पर पूर्व के चुनावों में कम वोटर टर्नआउट हुआ है वहाँ सघन जागरूकता अभियान चलाएँ। मतदाताओं को उनके मत का महत्व बताएँ तथा मतदान करने के लिए प्रेरित करें। डीएम ने कहा कि संविधान द्वारा प्रदत्त सार्वभौम वयस्क मताधिकार हम सभी के लिए बहुमूल्य है। जागरूक मतदाता हमारे समृद्ध लोकतंत्र की रीढ़ हैं। चुनावों में उच्च मतदान प्रतिशत इसे एक नया आयाम देगा।

डीएम व एसएसपी ने कहा कि स्वतंत्र, निष्पक्ष, भयमुक्त, पारदर्शी एवं उत्तरदायित्वपूर्ण चुनाव सम्पन्न कराना प्रशासन की सर्वाेच्च प्राथमिकता है। सभी पदाधिकारी इसके लिए सजग, तत्पर एवं प्रतिबद्ध रहेंगे।

इस बैठक में सभी पुलिस अधीक्षक, अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, पुलिस उपाधीक्षक एवं अन्य भी उपस्थित थे।

डीपीआरओ, पटना

अकबर ईमाम एडिटर इन चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *