May 27, 2024

जिले में उर्वरक की कोई कमी नहीं; किसान-बन्धु पैनिक न होंः डीएम डॉ. चन्द्रशेखर सिंह

1 min read

पटना, सोमवार, दिनांक 13 नवम्बर, 2023ः जिलाधिकारी, पटना डॉ. चन्द्रशेखर सिंह की अध्यक्षता में आज समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में जिला-स्तरीय उर्वरक निगरानी समिति की बैठक हुई। इसमें रबी, 2023 में फसलवार आच्छादन का लक्ष्य, आच्छादन के अनुसार उर्वरक की आवश्यकता एवं आपूर्ति, उर्वरक वितरण इत्यादि की एजेंडावार समीक्षा की गई। जिला कृषि पदाधिकारी, पटना श्री विकास कुमार द्वारा विस्तृत प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया।

जिलाधिकारी ने कहा कि जिला में माँग के अनुरूप उर्वरक की पर्याप्त उपलब्धता है। खाद की कोई कमी नहीं है। किसान भाइयों में पैनिक होने की कोई आवश्यकता नहीं है। जिला कृषि पदाधिकारी एवं सभी अनुमण्डल पदाधिकारियों को उर्वरक की उपलब्धता का अनुश्रवण करने का निदेश दिया गया है। साथ ही सभी उर्वरक कंपनियों को निदेशित किया गया है कि रैक आगमन के दो दिन पूर्व इसकी सूचना जिला कृषि पदाधिकारी को देंगे। जिला में उर्वरक के कुल 46 थोक विक्रेता तथा 902 खुदरा विक्रेता हैं। पैक्स अनुज्ञप्तिधारियों की संख्या 26 है तथा 05 बिस्कोमान अनुज्ञप्तिधारी है। डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि सभी अनुमण्डल पदाधिकारियों को टीम बनाकर चेक लिस्ट के अनुसार थोक विक्रेताओं के स्टॉक का जाँच करने का निदेश दिया गया है। उन्होंने कहा कि खुदरा विक्रेताओं की भी जाँच आवश्यकतानुसार समय-समय पर करायी जाएगी। किसी भी तरह की अनियमितता पाए जाने पर नियमानुसार सख्त कार्रवाई की जाएगी। जिलाधिकारी द्वारा जिला सहकारिता पदाधिकारी, पटना को सरकार के निदेशों के अनुरूप पैक्स को भी उर्वरक के लाइसेंस हेतु अप्लाई करने के लिए प्रोत्साहित करने को कहा।

विदित हो कि रबी, 2023 में कुल आच्छादन लक्ष्य 1,74,061 हेक्टेयर है। यूरिया, डीएपी, एनपीके कॉम्प्लेक्स, पोटाश (एमओपी) तथा फॉस्फेट (एसएसपी) की आवश्यकता क्रमशः 59,717 मेट्रिक टन; 10,775 मेट्रिक टन; 9,981 मेट्रिक टन; 890 मेट्रिक टन तथा 1,775 मेट्रिक टन है। प्रखंडवार नवम्बर एवं दिसम्बर माह की आवश्यकता के अनुरूप पर्याप्त आपूर्ति है। वर्तमान समय में 13,563.932 मेट्रिक टन यूरिया तथा 1,896.695 मेट्रिक टन डीएपी उपलब्ध है जो माँग के अनुसार पर्याप्त है।

जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि वर्ष 2023-24 में उर्वरक से संबंधित 144 छापामारी की गयी है। 03 से स्पष्टीकरण, 01 अनुज्ञप्ति निलंबित तथा 01 अनुज्ञप्ति रद्द किया गया है। वर्ष 2021-22 से अभी तक कुल 918 छापामारी किया गया है जिसमें 94 से स्पष्टीकरण, 39 अनुज्ञप्ति निलंबित, 47 रद्द तथा 24 प्राथमिकी दर्ज की गयी है। डीएम डॉ. सिंह द्वारा जिला कृषि पदाधिकारी को उर्वरक मामले में अनियमितता के विरूद्ध नियमित छापामारी करने का निदेश दिया गया।

डीएम डॉ. सिंह ने जिला कृषि पदाधिकारी को निदेश दिया कि किसान चौपालों एवं अन्य फोरम पर नैनो यूरिया का व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार करें एवं किसानों को इसका उपयोग करने हेतु प्रेरित करें।

उर्वरक कंपनियों के प्रतिनिधियों को निदेशित किया गया कि थोक उर्वरक विक्रेताओं को अन्य उत्पादों का क्रय करने का दवाब नहीं बनाया जाए। जिलाधिकारी द्वारा जिला कृषि पदाधिकारी को आज की बैठक में भाग नहीं लेने वाले उर्वरक कंपनियों से स्पष्टीकरण करने तथा उनके विरूद्ध सरकार को प्रतिवेदित करने का निदेश दिया गया।

आज के इस बैठक में उप विकास आयुक्त, जिला सहकारिता पदाधिकारी, उर्वरक कंपनियों के प्रतिनिधि, थोक उर्वरक विक्रेताओं के प्रतिनिधि एवं अन्य भी उपस्थित थे।

डीपीआरओ, पटना

समाहरणालय, पटना

(जन-सम्पर्क शाखा)

अकबर ईमाम एडिटर ईन चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed