May 27, 2024

असामाजिक तत्वों पर सतत निगरानी रखें, लोक शांति एवं व्यवस्था के हित में दंड प्रक्रिया संहिता के अंतर्गत कार्रवाई करेंःपटना डीएम व एसएसपी

1 min read

समाहरणालय, पटना

रामनवमी एवं चैती दुर्गापूजा के अवसर पर विधि-व्यवस्था संधारण हेतु प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारियों तथा पुलिस पदाधिकारियों की संयुक्त ब्रीफ़िंग, डीएम व एसएसपी द्वारा महावीर मंदिर एवं आसपास निरीक्षण भी किया गया

अनुमंडलवार 337 स्थानों पर 295 से अधिक दण्डाधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया गया है

आदर्श आचार संहिता का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करने का डीएम व एसएसपी ने दिया निदेश

सभी एसडीओ एवं एसडीपीओ जुलूसों के मार्ग का शत-प्रतिशत सत्यापन करेंः डीएम व एसएसपी ने दिया निदेश

आसूचना तंत्र को सुदृढ़ एवं सक्रिय रखें, सोशल मीडिया पर कड़ी नजर रखें, संवेदनशील स्थानों पर विशेष सतर्कतामूलक कार्रवाई करेंः डीएम व एसएसपी

क्यूआरटी एवं क्यूएमआरटी सक्रिय रखने का डीएम व एसएसपी ने दिया निदेश

असामाजिक तत्वों पर सतत निगरानी रखें, लोक शांति एवं व्यवस्था के हित में दंड प्रक्रिया संहिता के अंतर्गत कार्रवाई करेंः डीएम व एसएसपी

विधि-व्यवस्था संधारण प्रशासन की सर्वाेच्च प्राथमिकता, सभी संबद्ध पदाधिकारी सजग, तत्पर एवं प्रतिबद्ध रहेंः डीएम व एसएसपी

पटना, सोमवार, दिनांक 15.04.2024ः जिला पदाधिकारी, पटना श्री शीर्षत कपिल अशोक एवं वरीय पुलिस अधीक्षक, पटना श्री राजीव मिश्रा ने कहा है कि रामनवमी एवं चैती दुर्गापूजा के अवसर पर विधि-व्यवस्था संधारण प्रशासन की सर्वाेच्च प्राथमिकता है। सभी प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी संयुक्त जिलादेश में वर्णित निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन करें। अधिकारीद्वय आज वीर कुंवर सिंह पार्क में इस विषय पर आयोजित संयुक्त ब्रीफिंग में पदाधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। जिलाधिकारी श्री शीर्षत कपिल अशोक ने कहा कि एक अनुमान के अनुसार लगभग चार से पाँच लाख लोग पटना जंक्शन स्थित महावीर मंदिर में दर्शन के लिए आते हैं। कल रात दस बजे से ही दर्शनार्थियों का आना शुरू हो जाएगा। डाकबंगला चौराहा पर शोभा यात्रा में भी काफ़ी अधिक संख्या में लोग आयेंगे। अतः सभी दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी सजग होकर समय से ड्यूटी पर मुस्तैद रहें। डीएम व एसएसपी ने अधिकारियों को आदर्श आचार संहिता का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करने का निदेश दिया है।

जिलाधिकारी व वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि सार्वजनिक स्थलों पर भीड़ नियंत्रण के सभी उपायों को ध्यान में रखकर प्रतिनियुक्ति की गई है। विधि-व्यवस्था संधारण हेतु ज़िला स्तर से सभी अनुमंडलों में दण्डाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया गया है। लगभग 337 स्थानों पर 295 से अधिक दण्डाधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया गया है। इनके साथ पुलिस पदाधिकारियों को भी तैनात किया गया है। साथ ही सशस्त्र बल एवं लाठी बल को भी लगाया गया है। वीडियोग्राफी एवं सीसीटीवी की समुचित व्यवस्था की गई है। असामाजिक तत्वों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। यातायात नियंत्रण एवं पार्किंग का उचित प्रबंध किया गया है। जिलाधिकारी ने संवेदनशील स्थानों पर अत्यधिक सतर्कता बरतने एवं अफवाह फैलाने वालों के विरुद्ध सख्ती से निपटने का निर्देश दिया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि आपसी समन्वय के द्वारा किसी भी कार्य को बखूबी निभाया जा सकता है। उन्होंने नियंत्रण कक्षों को सतत क्रियाशील रखने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी व वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए क्विक रिस्पांस टीम(क्यूआरटी) एवं क्विक मेडिकल रिस्पांस टीम(क्यूएमआरटी)तैनात रखें।

जिलाधिकारी व वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि सभी एसडीओ एवं एसडीपीओ अपने-अपने क्षेत्र में प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों की स्पॉट ब्रीफिंग सुनिश्चित करेंगे। आवश्यकतानुसार अतिरिक्त प्रतिनियुक्ति करेंगे। सोशल मीडिया पर कड़ी निगरानी रखेंगे तथा अफवाहों का त्वरित खंडन करेंगे। कॉम्युनिकेशन प्लान के अनुसार सभी स्टेकहोल्डर्स (हितधारकों) के साथ सार्थक संवाद एवं सुदृढ़ समन्वय स्थापित रखेंगे। शरारती तत्वों के विरूद्ध निरोधात्मक कार्रवाई तथा बंध पत्र भरवाने की कार्रवाई करेंगे। पूर्व की घटनाओं में शामिल व्यक्तियों को चिन्हित करते हुए उनके विरूद्ध विधि-सम्मत कार्रवाई करेंगे। असामाजिक तत्वों के विरूद्ध लोक शांति एवं व्यवस्था के हित में दण्ड प्रक्रिया संहिता की सुसंगत धाराओं-107, 116 एवं 151 के अर्न्तगत कार्रवाई करें। पूजा पंडालों तथा जुलूस में गतिविधियों पर सीसीटीवी एवं वीडियोग्राफी के माध्यम से नजर रखी जाए। किसी भी तरह का आपत्तिजनक गाना, कार्टून एवं झाँकी का प्रदर्शन प्रतिबंधित है इसे सुनिश्चित कराएं। जिलाधिकारी व वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि भारतीय दण्ड संहिता की धारा 153 के अन्तर्गत असामाजिक तत्वों के विरूद्ध दण्ड देने का समुचित प्रावधान है। ये धाराएं अब संज्ञेय और गैरजमानती है। सोशल मीडिया यथा फेसबुक, ट्विटर एवं व्हाट्सऐप के माध्यम से संदेहास्पद सूचनाओं के आदान-प्रदान पर विशेष नजर रखी जाएगी। इसके द्वारा अफवाह फैलाने वालों के विरूद्ध समुचित कार्रवाई की जाएगी।

विदित हो कि राज्य में रामनवमी पर्व दिनांक 17.04.2024 को मनाया जाएगा। चैती दुर्गापूजा 09 अप्रैल से प्रारंभ हुआ है जो 18 अप्रैल तक मनाया जाएगा। चैती दुर्गापूजा प्रतिमा विसर्जन दिनांक 19.04.2024 को किया जाएगा।

जिलाधिकारी व वरीय पुलिस अधीक्षक ने निदेश दिया कि सभी जुलूस के लिए लाईसेंस निर्गत रहनी चाहिए। बिना अनुज्ञप्ति का कोई जुलूस नहीं निकलेगा। सभी एसडीओ एवं एसडीपीओ गृह (विशेष) विभाग के प्रावधानों एवं नियमों का अनुपालन सुनिश्चित कराएं। सभी एसडीओ एवं एसडीपीओ जुलूस के मार्ग का शत-प्रतिशत सत्यापन करें। साथ ही, अनुज्ञप्ति में अंकित जुलूस के निर्धारित मार्ग एवं समय का अनुपालन सुनिश्चित कराएं। आवश्यकता पड़ने पर जुलूस को नियंत्रित करने में गृह विभाग के प्रावधानों, पुलिस ऐक्ट की धारा 30/32 एवं सीआरपीसी की धारा-144 की सहायता ली जाय। प्रत्येक विसर्जन जुलूस/रामनवमी जुलूसों के साथ पुलिस स्कॉर्ट की व्यवस्था सुनिश्चित करें।

विदित हो कि रामनवमी पर्व की तैयारी हेतु आयुक्त, पटना प्रमण्डल, पटना श्री कुमार रवि, जिलाधिकारी, पटना श्री शीर्षत कपिल अशोक एवं वरीय पुलिस अधीक्षक, पटना श्री राजीव मिश्रा द्वारा वरीय पदाधिकारियों के साथ लगातार निरीक्षण किया जा रहा है एवं तैयारियों का अनुश्रवण किया जा रहा है। आज भी डीएम व एसएसपी द्वारा महावीर मंदिर, जीपीओ, वीर कुंवर सिंह पार्क एवं आसपास निरीक्षण किया गया एवं आवश्यक निदेश दिया गया।

जिलाधिकारी व वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए विधि-व्यवस्था संधारण एवं भीड़-प्रबंधन हेतु सभी तरह की प्रशासनिक व्यवस्था की गयी है।

पटना जंक्शन स्थित महावीर मंदिर, डाक बँगला चौराहा के पास एवं सदर अनुमंडल के अन्य स्थानों पर प्रशासनिक व्यवस्था

जिलाधिकारी व वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा पटना जंक्शन स्थित महावीर मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के सुव्यवस्थित प्रवेश, गतिशीलता एवं निकास के लिए विशेष प्रबंध किया गया है। महावीर मंदिर से श्रद्धालुओं की पंक्ति जीपीओ गोलम्बर से होते हुए वीर कुंवर सिंह पार्क के अंदर तक रहेगी। वीर कुंवर सिंह पार्क में श्रद्धालुओं का प्रवेश आर ब्लॉक की ओर स्थित पार्क के द्वार से होगा एवं निकास पार्क के पूर्वी-दक्षिणी द्वार से पंक्ति के रूप में होगा। श्रद्धालु पंक्तिबद्ध रहें एवं इसमें कोई अव्यवस्था न हो इसके लिए पर्याप्त संख्या में वरीय दण्डाधिकारियों एवं वरीय पुलिस पदाधिकारियों के साथ दण्डाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों को तैनात किया गया है। सिविल डिफेंस के वोलन्टियर्स भी आवश्यकतानुसार मुस्तैद रहेंगे।

पटना जंक्शन के पास न्यू मार्केट के सामने, मुख्य सड़क के उत्तरी फ्लैंक की ओर, जीपीओ गोलम्बर, डाकबंगला चौराहा एवं वीर कुंवर सिंह पार्क में अस्थायी नियंत्रण कक्ष क्रियाशील रहेगा।

पटना जंक्शन स्थित महावीर मंदिर परिसर के पास बने ‘‘मे आई हेल्प यू’’ में क्यूआरटी एवं अस्थायी नियंत्रण कक्ष में क्यूआरटी की प्रतिनियुक्ति की गई है।

पटना सदर अनुमण्डल में 19 स्थानों पर 19 दण्डाधिकारियों, पटना जंक्शन स्थित हनुमान मंदिर के नजदीक 02 वरीय दण्डाधिकारियों तथा पुलिस उपाधीक्षकों के नेतृत्व में 10 स्थानों पर दो पालियों में 33 दण्डाधिकारियों, महावीर मंदिर परिसर से बाहर जीपीओ गोलम्बर तक 02 वरीय दण्डाधिकारियों तथा पुलिस उपाधीक्षकों के नेतृत्व में 21 स्थानोें पर दो पालियों में 27 दण्डाधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया गया है। न्यू मार्केट, पटना जंक्शन स्थित निर्मित अस्थायी नियत्रंण कक्ष में पालीवार 06 दण्डाधिकारियों को सुरक्षित रखा गया है। नियंत्रण कक्ष के वरीय दण्डाधिकारियों को निदेश दिया गया है कि प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी का दल गठित कर समय-समय पर मंदिर से लेकर श्रद्धालुओं की पंक्ति के अंतिम छोर तक पैदल गश्ती करते रहेंगे, ताकि पुरूष एवं महिलाओं के पंक्तिबद्ध रहने में किसी प्रकार की अव्यवस्था न हो। साथ ही स्वयं भ्रमणशील रहकर सम्पूर्ण व्यवस्था की निगरानी करेंगे। जीपीओ गोलम्बर से आर ब्लॉक, वीर कुंवर सिंह पार्क एवं आस-पास के क्षेत्रों में 02 वरीय दण्डाधिकारियों तथा पुलिस उपाधीक्षकों के नेतृत्व में 08 स्थानोें पर दो पालियों में 27 दण्डाधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया गया है। राजवंशी नगर हनुमान मंदिर के पास 01 वरीय दण्डाधिकारी तथा पुलिस पदाधिकारी के नेतृत्व में 03 स्थल पर पालीवार 08 दण्डाधिकारियों को तैनात किया गया है। डाकबंगला चौराहा एवं आस-पास के क्षेत्र में 01 वरीय प्रभारी पदाधिकारी एवं पुलिस उपाधीक्षक के नेतृत्व में 23 स्थानों पर 20 दण्डाधिकारियों को तैनात किया गया है। जिला नियंत्रण कक्ष में तिथिवार एवं 03 पालियों में 28 दण्डाधिकारियों को सुरक्षित रखा गया है।

जिलाधिकारी व वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि महावीर मंदिर परिसर के अंदर एवं बाहर मंदिर प्रबंधन के द्वारा सीसीटीवी की व्यवस्था की गयी है। प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी मंदिर प्रबंधन से समन्वय करते हुए इसकी क्रियाशीलता सुनिश्चित करेंगे। इसके अतिरिक्त नजारत उप समाहर्ता, पटना को निदेश दिया गया है कि महावीर मंदिर के समीप, वीर कुँवर सिंह पार्क से जीपीओ गोलम्बर तक, डाकबंगला चौराहे पर आवश्यकतानुसार सीसीटीवी कैमरा एवं डाकबंगला चौराहे पर एलईडी टीवी अधिष्ठापित कराएंगे। वीडियोग्राफी भी सुनिश्चित की जाएगी।

यातायात प्रबंधन

जिलाधिकारी व वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि पुलिस अधीक्षक, यातायात द्वारा ट्रैफिक प्लान के अनुसार यातायात प्रबंधन सुनिश्चित किया जाएगा। पटना जंक्शन महावीर मंदिर के नजदीक श्रद्धालुओं की सुविधा के दृष्टिकोण से वाहनों के पार्किंग हेतु मल्टीलेवल पार्किंग (बुद्धा स्मृति पार्क के पास), मिलर स्कूल का मैदान, वीरचन्द पटेल पथ का फ्लैंक एवं बुद्ध स्मृति पार्क के सामने सीमित संख्या में पार्किंग स्थल के रूप में चिन्हित किया गया है। पुलिस अधीक्षक, यातायात इन स्थलों पर वाहन पार्किंग हेतु पर्याप्त संख्या में यातायात पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति सुनिश्चित करेंगे ताकि वाहन सुगमतापूर्वक चिन्ह्ति स्थलों पर पार्क हो सके एवं यत्र-तत्र पार्किंग नहीं हो।

  1. प्रसाद लेकर महावीर मंदिर जाने वाले दर्शनार्थी वीर कुँवर सिंह पार्क के पश्चिमी गेट (आर ब्लॉक के निकट) से प्रवेश कर कतारबद्ध तरीके से वीर कुँवर सिंह पार्क, जी०पी०ओ० गोलम्बर होते हुए महावीर मंदिर तक जायेंगे एवं दर्शनोपरान्त डाकबंगला रोड की तरफ से निकलेंगे।
  2. प्रसाद लेकर जाने वाले दर्शनार्थियों के वाहनों की पार्किंग व्यवस्था वीरचन्द पटेल पथ स्थित मिलर हाई स्कूल, पटना के मैदान एवं पथ परिवहन निगम कार्यालय के परिसर में होगा।
  3. बुद्ध मार्ग होकर दर्शनार्थियों की क़तार में लगने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

अन्य अनुमंडलों में प्रतिनियुक्ति

पटना सिटी अनुमण्डल में 171 स्थानों पर 86 दण्डाधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया गया है। महावीर स्थान (जल्ला), बाहरी बेगमपुर थाना बाईपास के नजदीक, मंगल तालाब, महेन्द्रू इत्यादि स्थलों पर शोभायात्रा का स्कॉर्ट करने हेतु तिथिवार 24 दण्डाधिकारियों का 06 दल तैनात रहेगा। पटना सिटी स्थित 24×7 अनुमण्डल नियंत्रण कक्ष में वरीय प्रभारी पदाधिकारी के नेतृत्व में 03 पालियों में 15 दण्डाधिकारियों को सुरक्षित रखा गया है।

दानापुर अनुमण्डल में 07 वरीय दण्डाधिकारियों के नेतृत्व में 40 स्थानों पर 70 दण्डाधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया गया है। दानापुर स्थित 24×7 अनुमण्डल नियंत्रण कक्ष में वरीय प्रभारी पदाधिकारी के नेतृत्व में 02 पालियों में 08 दण्डाधिकारियों को सुरक्षित रखा गया है। सभी सुरक्षित दण्डाधिकारी/समन्वयक संबंधित थानाध्यक्ष से समन्वय स्थापित कर नियमानुसार गश्ती दल दण्डाधिकारी/स्टैटिक दण्डाधिकारी के रूप के कार्य करेंगे।

बाढ़ अनुमण्डल में 16 वरीय दण्डाधिकारियों के नेतृत्व में 40 स्थानों पर 42 दण्डाधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया गया है। बाढ़ स्थित 24×7 अनुमण्डल नियंत्रण कक्ष में वरीय प्रभारी पदाधिकारी के नेतृत्व में 06 दण्डाधिकारियों को सुरक्षित रखा गया है।

मसौढ़ी अनुमण्डल में 04 वरीय दण्डाधिकारियों के नेतृत्व में 35 स्थानों पर 45 दण्डाधिकारियों एवं पर्यवेक्षकीय पदाधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया गया है। मसौढी स्थित 24×7 अनुमण्डल नियंत्रण कक्ष में वरीय प्रभारी पदाधिकारी के नेतृत्व में 10 दण्डाधिकारियों एवं कर्मियों को सुरक्षित रखा गया है। अचंल अधिकारी, मसौढ़ी एवं थानाध्यक्ष, मसौढ़ी शनिदेव मंदिर, मसौढ़ी से निकलने वाले जुलूस के साथ भ्रमणशील रहकर सतत निगरानी रखना तथा विधि-व्यवस्था संधारण सुनिश्चित करेंगे।

पालीगंज अनुमण्डल में 32 स्थानों पर 33 दण्डाधिकारियों एवं समन्वयकों को प्रतिनियुक्त किया गया है। पालीगंज स्थित 24×7 अनुमण्डल नियंत्रण कक्ष में वरीय प्रभारी पदाधिकारी के नेतृत्व में 03 पालियों में 12 दण्डाधिकारियों एवं कर्मियों को सुरक्षित रखा गया है।

विभिन्न विभागों द्वारा की गयी तैयारी

सभी एसडीओ एवं एसडीपीओ को अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत समुचित संख्या में क्यूआरटी क्रियाशील रखने का निदेश दिया गया है।

पर्याप्त संख्या में स्ट्रायकिंग फोर्स की व्यवस्था की गई है जो किसी भी तरह की सूचना मिलने पर त्वरित कार्रवाई करेगी।

चिकित्सकों, जीवन-रक्षक दवाओं तथा अन्य आवश्यक संसाधनों सहित वीर कुंवर सिंह पार्क में पालीवार मेडिकल कैम्प एवं अस्थायी चिकित्सा शिविर क्रियाशील रहेगा। साथ ही सभी भीड़-भाड़ वाले स्थलों पर पर्याप्त संख्या में एम्बुलेंस एवं पारा मेडिकल टीम उपलब्ध रहेंगा। पीएमसीएच, एनएमसीएच, गुरू गोविंद सिंह अस्पताल, आईजीआईएमएस एवं एम्स के अधीक्षकों/निदेशक को अपने-अपने अस्पताल के ऑपरेशन थिएटर तथा इमरजेंसी वार्ड को हमेशा तैयार रखने हेतु अनुरोध किया गया है। डीएम ने सिविल सर्जन, पटना को इसे समन्वय कर सुनिश्चित करने का निदेश दिया है।

जिलाधिकारी व वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि विसर्जन हेतु नदियों के घाटों पर अवैध नावों का परिचालन प्रतिबंधित है। इसे सुनिश्चित करें। नदी घाटों पर एसडीआरएफ, एनडीआरएफ टीम तथा गोताखोरों को तैनात रखें। रिवर पेट्रोलिंग सुनिश्चित करें।

श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु स्वच्छ पेयजल के लिए पर्याप्त संख्या में वाटर टैंकर तथा वाटर एटीएम की व्यवस्था रहेगी।

महाप्रबंधक, पेसू द्वारा शहरी क्षेत्रों में तथा विद्युत कार्यपालक अभियंताओं द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। जुलूस के मार्ग में पड़ने वाले बिजली के तारों को ठीक रखेंगे।

नगर निकायों द्वारा हाई-मास्ट लाईट, स्ट्रीट लाईट एवं पोल लाईट को क्रियाशील रखा जाएगा।

ज़िला अग्निशाम पदाधिकारी महत्वपूर्ण स्थलों पर पर्याप्त संख्या में फायर ब्रिगेड एवं यूनिट तैनात रखेंगे।

जिलाधिकारी ने कहा कि रामनवमी के अवसर पर पटना नगर निगम जुलूस के मार्गों की साफ-सफाई एवं शहर के अन्तर्गत मार्गों पर मैनहोल को ठीक रखेंगे एवं सड़क किनारे अवस्थित नालों की सफाई समय पूर्व कराना सुनिश्चित करेंगे।

जिलाधिकारी व वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि सभी अनुमंडल पदाधिकारी/अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अनुमंडल स्तर पर तथा प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारी/पुलिस पदाधिकारी अपने-अपने स्थान में पर्व के पूर्व शांति समिति की सार्थक बैठक करेंगे एवं कार्यवाही अंकित करते हुए इलाके के सक्रिय व्यक्तियों से समन्वय रखेंगे।

जिलाधिकारी व वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि 24×7 जिला नियंत्रण कक्ष (0612-2219810, 0612-2219234) एवं आपात नंबर सेवा 112 पर कभी भी संपर्क किया जा सकता है।

विधि-व्यवस्था संधारण एवं अन्य सभी व्यवस्थाओं के सम्पूर्ण प्रभार में संबंधित क्षेत्र के अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी तथा पुलिस उपाधीक्षक रहेंगे एवं वरीय प्रभार में श्री राजेश रौशन, अपर जिला दंडाधिकारी, विधि-व्यवस्था, पटना एवं श्री चन्द्र प्रकाश, नगर पुलिस अधीक्षक, मध्य/श्री अभिनव धीमन, नगर पुलिस अधीक्षक, पश्चिमी/श्री भारत सोनी, नगर पुलिस अधीक्षक, पूर्वी एवं श्री रौशन कुमार, पुलिस अधीक्षक, ग्रामीण रहेंगे। वे सभी व्यवस्थाओं को ससमय सुनिश्चित करायेंगे तथा किसी भी प्रकार की त्रुटि एवं सत्यापन की स्थिति में अविलम्ब निराकरण हेतु आवश्यक कार्रवाई करेंगे।

डीपीआरओ, पटना

अकबर ईमाम एडिटर इन चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed