May 20, 2024

नया समाहरणालय भवन होगा स्थापत्य कला का एक उत्कृष्ट उदाहरण; आधुनिक एवं प्रगतिशील बिहार की छवि प्रस्तुत करेगा: आयुक्त

1 min read

प्रमंडलीय आयुक्त-सह-सचिव, भवन निर्माण विभाग श्री रवि ने नए समाहरणालय भवन के निर्माण कार्यों का लिया जायजा

निर्माण कार्य तेजी से हो रहा है; मार्च, 2024 तक नया समाहरणालय भवन तैयार हो जाएगा, एक छत के नीचे होंगे जिला प्रशासन के सभी कार्यालय

नया समाहरणालय भवन जिलेवासियों के लिए वन-स्टॉप सॉल्यूशन होगा: आयुक्त

आयुक्त ने कहाः पूरी तरह तैयार सैंपल रूम का दस दिन में निरीक्षण करेंगे

भवन का डिजायन भूकंप-रोधी, सोलर पैनल एवं रेनवाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली से लैस रहेगा यह अत्याधुनिक भवन: आयुक्त

पटना, बुधवार, दिनांक 04 अक्टूबर, 2023ः सचिव, भवन निर्माण विभाग, बिहार सरकार-सह-आयुक्त, पटना प्रमंडल, पटना श्री कुमार रवि ने आज पटना समाहरणालय परिसर का स्थल भ्रमण किया तथा नए समाहरणालय भवन के निर्माण कार्य में भौतिक प्रगति का जायजा लिया। स्थल पर ही उन्होंने भवन निर्माण विभाग के अधिकारियों तथा अभियंताओं के साथ समीक्षा बैठक की एवं पीपीटी के माध्यम से प्रगति प्रतिवेदन का अवलोकन किया। आयुक्त-सह-सचिव द्वारा तथा पदाधिकारियों को आवश्यक निदेश दिया।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि नए समाहरणालय भवन का निर्माण कार्य 18 मई, 2022 को प्रारंभ किया गया था। एकरारनामा के अनुसार निर्माण कार्य की पूर्णता अवधि 25 महीने (जून, 2024) है। इससे पहले जिलेवासियों को यह सौगात मिलेगी।

निरीक्षण में पाया गया कि स्थल पर तेजी से काम किया जा रहा है। आयुक्त श्री रवि ने कहा कि निर्माण कार्य में भौतिक प्रगति काफी अच्छी है। दिसंबर तक संरचना का काम पूरा हो जाएगा। उसके बाद फिनिशिंग टच दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस वित्तीय वर्ष के अंत तक नए समाहरणालय भवन का निर्माण कार्य पूरा कर लेने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए लगातार काम किया जा रहा है। मार्च, 2024 तक इसका निर्माण पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि यहाँ आम जनता के लिए उत्कृष्ट सुविधा रहेगी। बैठने के लिए पर्याप्त जगह के साथ-साथ शौचालय एवं पेयजल की बेहतरीन व्यवस्था रहेगी। मुख्य भवन में 39 विभाग संचालित होगा। समाहरणालय में बेसमेन्ट एवं भूतल के अलावा पाँच फ्लोर होगा। केन्द्रीय समाहरणालय भवन के अतिरिक्त परिसर में दो और ब्लॉक- एसडीओ एवं डीडीसी ब्लॉक तथा डिस्ट्रिक्ट बोर्ड ऑफिस एवं बहुउपयोगी भवन ब्लॉक रहेगा। एसडीओ एवं डीडीसी ब्लॉक में बेसमेन्ट एवं भूतल के अलावा चार फ्लोर होगा।

विदित हो कि प्रस्तावित नए समाहरणालय भवन परिसर के उत्तर मे गंगा नदी एवं दक्षिण में गाँधी मैदान है। इसका डिजायन विद्यमान एवं आधुनिक वास्तुशैली का सरलीकृत मेल है।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि गंगा नदी के किनारे अवस्थित यह परिसर स्थापत्य कला का एक उत्कृष्ट उदाहरण होगा। उच्च तकनीकों पर आधारित एवं अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस यह भवन निर्माण के बाद राज्य की राजधानी में एक महत्वपूर्ण केन्द्र होगा। जिलेवासियों के लिए यह वन-स्टॉप सॉल्यूशन का काम करेगा। एक छत के नीचे जिला प्रशासन के सभी कार्यालय अवस्थित रहेंगे। इससे कार्य-संस्कृति और सुदृढ़ होगी तथा नागरिकों को अधिक सुगमता से सेवा प्रदान की जा सकेगी।

गौरतलब है कि इसका निर्माण भवन निर्माण विभाग के निर्माण प्रमंडल-1 द्वारा किया जा रहा है। भू-खण्ड का क्षेत्रफल (प्लॉट एरिया) 43,454 वर्ग मीटर अर्थात 10.74 एकड़ है। बिल्ट-अप एरिया 28,388 वर्ग मीटर है।

आयुक्त श्री रवि ने भवन कार्यपालक अभियंता को निदेश दिया कि भवन में प्राकृतिक हवा एवं प्रकाश की समुचित व्यवस्था रहनी चाहिए। सोलर पैनल का अधिक से अधिक उपयोग की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

आयुक्त श्री रवि ने भवन निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता को त्वरित गति से निर्माण कार्य करने का निदेश दिया है। साथ ही उन्होंने सम्बद्ध एजेंसी को भी तत्परता से कार्य करने को कहा है। आयुक्त श्री रवि ने कहा कि फ्लोरवाईज टाइमलाईन के अनुसार निर्माण कार्य पूर्ण करें।

विगत निरीक्षण के समय आयुक्त श्री रवि द्वारा एक सैंपल रूम तैयार करने का निदेश दिया गया था जिसमें योजना के अनुसार सभी तरह का प्रबंध किया गया हो। टाईल्स, खिड़की, रूम में प्रवेश, दरवाजा, शौचालय, हवा, प्रकाश, कॉमन एरिया आदि की व्यवस्था प्लान के अनुसार रहनी चाहिए। आयुक्त के संज्ञान में कार्यपालक अभियंता द्वारा लाया गया कि निदेश के अनुसार सैंपल रूम तैयार है। आयुक्त श्री रवि ने कहा कि दस दिन के अंदर योजना के अनुसार पूर्ण रूप से तैयार एक सैंपल रूम का निरीक्षण करेंगे।

आयुक्त ने कहा कि नए समाहरणालय में सभी विभागों का अलग-अलग प्रवेश रहेगा। परिसर में एक केन्द्रीय हरित पब्लिक प्लाजा भी होगा। अंडरग्राउण्ड एवं खुला पार्किंग भी रहेगा। पर्याप्त प्राकृतिक प्रकाश एवं हवा की सुविधा रहेगी। भवन वीआरवी प्रणाली आधारित केन्द्रीकृत एयर कंडिशनर से लैस रहेगा। कैन्टीन एवं बैंक की भी सुविधा रहेगी।

प्रस्तावित नया समाहरणालय भवन परिसर में लगभग 205 ओपेन पार्किंग एवं लगभग 240 बेसमेन्ट पार्किंग की सुविधा रहेगी। सुरक्षात्मक दृष्टिकोण से इस परिसर में उत्कृष्ट मापदण्डों का अनुपालन किया जाएगा। सीसीटीवी सर्विलैन्स, अत्याधुनिक अग्नि सुरक्षा तंत्र, प्रवेश-निकास कन्ट्रोल, पब्लिक एड्रेस सिस्टम, भूकम्प रोधी संरचना तथा आपातकालीन स्थिति में व्यवस्थित निकासी की सुविधा से यह भवन लैस रहेगा। 200 से 225 की संख्या में सीसीटीवी कैमरा लगा रहेगा। 200 लोगों के बैठने के लिए एक कॉन्फ्रेन्स रूम, 80 लोगों के लिए दूसरा कॉन्फ्रेन्स रूम तथा 40 लोगों के लिए एक अन्य कॉन्फ्रेन्स रूम रहेगा। सभी कॉन्फ्रेन्स रूम प्रोजेक्टर एवं ऑडियो-विजुअल प्रणाली से सुसज्जित रहेगा। परिसर में चार उद्यान रहेगा जिसका कुल हरित क्षेत्र लगभग 3,484 वर्गमीटर होगा। मानदण्डों के अनुसार रेनवाटर हार्वेस्टिंग तथा ऊर्जा संरक्षण हेतु सोलर पैनल अधिष्ठापित की जाएगी।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि विकास के प्रति सरकार का दृष्टिकोण मानवीय एवं पर्यावरण के अनुकूल है। इस भवन के निर्माण से आम जनता को सर्वाेत्तम सुविधाएँ प्राप्त होंगी।

आयुक्त श्री रवि ने संबंधित अधिकारियों को प्रदत्त निर्देशों का त्वरित एवं तत्परता से अनुपालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।

इस अवसर पर आयुक्त श्री रवि के साथ संयुक्त सचिव, भवन निर्माण विभाग श्री राजेश कुमार, कार्यपालक अभियंता श्री पवन कुमार, अभियंता श्री गौतम कुमार एवं भवन निर्माण विभाग के अन्य अभियंतागण भी उपस्थित थे।

उप निदेशक,
आईपीआरडी, पटना प्रमंडल

अकबर ईमाम एडिटर ईन चीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed